ट्रंप की धमकी से उठे भारत-अमेरिका संबंध पर सवाल

आकोरोना वायरस से भारत सहित महाशक्तिशाली देश भी परेशान है जिसमें चीन, इटली और अमेरिका जैसे देश भी शामिल है। अमेरिका संक्रमण के क्षेत्र में पहले स्थान पर है जहां पर संक्रमित लोगों की संख्या लाखों में पहुंच चुकी है जबकि मरने वालों की संख्या 10000 को पार कर चुकी है।
अमेरिका ने अपने मुश्किल समय में भारत से मदद मांगी है अमेरिका ने भारत से एक दवा मांगी है जिसका नाम हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन(Hydroxychloroquine) है। यह दवा मलेरिया के रोगियों पर इस्तेमाल की जाती है लेकिन फिलहाल में इससे कोरोना संक्रमित लोगों का इलाज किया जा रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फोन पर भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस बारे में बात की और जल्द से जल्द भेजने का आग्रह किया। लेकिन भारत ने पहले से ही इस दवा पर रोक लगा रखी है क्योंकि भारत एक बड़ी जनसंख्या वाला देश है। ऐसे में सबसे पहले अपने लोगों का ध्यान रखना होगा।
द वाइट हाउस ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो पोस्ट किया गया है जिसमें
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत को धमकी देते हुए नजर आ रहे है। विडियो में ट्रंप यह कहते हुए दिखाई दे रहे हैं कि रविवार की सुबह मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से बात की थी और उनसे यह कहा था कि आप हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन(Hydroxychloroquine) की सप्लाई जल्द से जल्द शुरू करें तो अच्छा होगा लेकिन अगर वह ऐसा नहीं करते हैं तो उसका उन्हें करारा जवाब दिया जाता। 

आप को बतादें कि हाल ही में अमेरिकी राष्ट्रपति ने भारत का दौरा किया था इस दौरान उन्होंने अमेरिका को भारत का एक अच्छा दोस्त बताया था लेकिन उसके ठीक बाद आया ट्रंप का यह बयान भारत और अमेरिका की दोस्ती पर सवाल खड़ा करता है। भारत सरकार ने पहले इस दवा पर रोक लगा दी थी लेकिन अमेरिका सहित पड़ोसी देशों की तरफ से बढ़ती मांग के बाद भारत ने पाबंदी हटाते हुए कुछ देशों को दवा सप्लाई करने पर विचार किया है।
वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति के धमकी भरे इस वीडियो को लेकर पूरे भारत में इसकी आलोचना की जा रही है। तमाम राजनीतिक दल और आम जनता भी ट्रंप के इस बयान का पुरजोर विरोध कर रही है। मुश्किल की इस घड़ी में जब भारत और अमेरिका दोनों कोरोनावायरस से जंग लड़ रहे हैं तो दोनों को एक दूसरे को सहयोग करना चाहिए ना की धमकी देना चाहिए। कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्रंप के इस बयान की आलोचना की है। राहुल गांधी ने कहा की मित्रता जवाबी कार्यवाही के लिए नहीं होती। भारत को इस मुश्किल दौर में सभी देशों की मदद करनी चाहिए लेकिन इस दौरान देशवासियों का भी ख्याल रखा जाना चाहिए।

चीन से शुरु हुआ कोरोना वायरस अब पूरी दुनिया में फैल चुका है। अमेरिका सबसे प्रभावित देश है जहां संक्रमित लोगों की संख्या 3 लाख का आकड़ा पार कर चुकी है जबकि 10 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं भारत में भी संक्रमण तेजी से फैल रहा है अब तक  करीब 5 हजार लोग संक्रमित हो चुके है और 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।

आपकी प्रतिक्रिया...