कोरोना पर विजय पाने के लिए मोदी के यह 7 वचन

हेडलाइन
  • देश में 3 मई तक बढ़ा लॉक डाउन 
  • 600 अस्पताल कोविड19 पर काम कर रहे है
  • कोरोना योद्धाओं को उनके योगदान के लिए सम्मान दें

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार के अपने संबोधन में देश को करुणा से जारी लड़ाई को लेकर जानकारी दी। प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरा देश कोरोना वायरस के खिलाफ जारी लड़ाई में अपना पूरा योगदान दे रहा है हम सभी भारत वासियों को एक होकर इस लड़ाई में साथ लड़ना है लेकिन इस दौरान प्रधानमंत्री ने कुल 7 ऐसे प्रमुख बिंदुओं पर लोगों का ध्यान केंद्रित किया जो इस लड़ाई में प्रमुख भूमिका निभाते हैं और इन सभी प्रमुख बिंदुओं पर हर तबके के लोग जुड़े हुए हैं।
1. बुजुर्ग व्यक्तियों का ख्याल रखें
करीब करीब सभी परिवारों में बुजुर्ग होते हैं कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए इन्हें सबसे ज्यादा बचाने की जरूरत है क्योंकि वृद्ध व्यक्ति ज्यादातर पहल से ही कई बिमारीयों से ग्रसित होते है और इस अवस्था में इम्यूनिटी पावर यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है जिससे वृद्ध व्यक्तियों के संक्रमित या बीमार होने का खतरा अधिक रहता है।
2. लॉक डाउन का पालन करें और घरेलू मास्क का इस्तेमाल करें
कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से देश में लागू किए गए लॉक डाउन का पालन करें और सिर्फ घरेलू मास्क का इस्तेमाल करें। कोरोना वायरस की वजह से अचानक से बाजारों से मास्क गायब हो गए, क्योंकि इससे पहले मास्क का कोई विशेष प्रचलन नहीं था इसलिए अचानक से मास्क की मांग बढ़ने से यह बाजार में जरुरी मात्रा में उपलब्ध नहीं हो पा रहे है इसलिए सरकार ने सभी को घर में मास्क बनाने का निर्देश दिया है। मास्क उपलब्ध ना होने पर आप गमछे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं स्वयं प्रधानमंत्री ने आज गमछे का मास्क बनाकर देशवासियों को संबोधित किया था।
3. आयुष मंत्रालय  के निर्देशों का पालन करें
मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस से बचने के लिए हमारे पास सही जानकारी का होना बहुत जरुरी है इसलिए हमें आयुष मंत्रालय के दिशा निर्देशों का पालन करना चाहिए। इसके साथ ही हमें अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाना चाहिए। हमें प्रतिदिन गरम पानी पीना चाहिए, कसरत या योग करना चाहिए। जिससे हमारा शरीर स्वस्थ्य रहेगा और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती जायेगी।
4. आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल करें
कोरोना वायरस से लड़ने और खुद की रक्षा के लिए सरकार की तरफ से एक ऐप का निर्माण किया गया है जिसका नाम आरोग्य सेतु अप है जिसके माध्यम से आप खुद को सुरक्षित रख सकते हैं साथ ही कोरोना से जुड़ी तमाम सावधानियां और क्वॉरेंटाइन करने के दिशा निर्देश भी जान सकते हैं। जब भी आप के आस-पास में कोई भी संक्रमित होगा तो इस ऐप के द्वारा आप को जानकारी मिल जायेगी इसलिए आप इसे जरुर डाउनलोड करें और दूसरों को भी इसके बारे में जानकारी दें।
5. लॉक डाउन में गरीबों की मदद अवश्य करें
लॉक डाउन के दौरान समाज का वह वर्ग सबसे ज्यादा परेशान है जो अपनी प्रतिदिन की कमाई से अपना पेट पालता था। अचानक से बंद हुए उनके कारोबार उनके लिए मुसीबत बन चुके हैं क्योंकि कहीं पर काम ना मिलने से उन्हें अब खाने की भी समस्या से जूझना पड़ रहा है। इसलिए प्रधानमंत्री ने सभी से निवेदन किया है कि जो भी लोग समर्थ है वह लॉक डाउन के दौरान अपने आसपास के गरीब लोगों का ध्यान रखें ताकि कोई भी भूखा पेट ना सो सके।
6. किसी को भी नौकरी से ना निकालें

कोरोना वायरस से बचने के लिए पूरे देश में लॉक डाउनलोड लगाया गया है ताकि लोग घरों में रहें और सुरक्षित रहें लेकिन इस दौरान लोग अपने व्यवसाय या फिर नौकरी तक नहीं पहुंच पा रहे है। लॉक डाउन से अर्थव्यवस्था पर भी बड़ा खतरा मंडरा रहा है जिससे लोगों को नौकरी जाने का डर सता रहा है। पीएम ने सभी से अनुरोध किया है कि किसी की भी नौकरी ना जाने दें यह मुश्किल दौर है इसमें सभी एक दूसरे का साथ दें।

7. कोरोना योद्धाओं का सम्मान करें
पीएम ने सभी से निवेदन करते हुए कहा कि जो भी कोरोना योद्धा इस मुश्किल घड़ी में हमारे लिए खड़े है हमें उनका सम्मान करना चाहिए। पुलिस, डॉक्टर, नर्स, सफाईकर्मी और सरकारी महकमें सहित कई लोग है जो इस मुश्किल घड़ी में भी अपनी सेवा लगातार दे रहे है। देश को ऐसे लोगों का सम्मान करना चाहिए और उनके कार्यो में सहयोग देना चाहिए।

आपकी प्रतिक्रिया...