बांद्रा स्टेशन पर इकट्ठा हुई हजारों की भीड़, पुलिस ने किया लाठी चार्ज

हेडलाइन
  • बांद्रा स्टेशन पर जमा हुई हजारो मजदूरों की भीड़
  • पुलिस ने लाठी चार्ज कर भीड़ को किया तितर-बितर
  • आदित्य ठाकरे ने भीड़ के लिए केंद्र सरकार को बताया जिम्मेदार
  • अमित शाह ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर की बात 

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में मंगलवार को उस समय अफरा-तफरी का माहौल बन गया जब मुंबई के बांद्रा स्टेशन पर अचानक से हजारों की भीड़ इकट्ठा हो गई। प्रधानमंत्री के सुबह के संबोधन के बाद आचानक से प्रवासी मजदूरों के इकट्ठा होने से प्रशासन सकते में आ गया और इन पर नियत्रण करने के लिए पुलिस को तैनात किया गया। बांद्रा स्टेशन के बाहर दूसरे राज्यों के मजदूरों की मांग थी कि उन्हे उनके घर जाने दिया जाये। इकट्ठा हुए मजदूरों का आरोप है कि उनके खाने और पीने की चीजें उन्हें नहीं मिल पा रही हैं। लॉक डाउन की वजह उनके सारे काम बंद हो चुके हैं जिससे अब उन्हें उनके घर भेज दिया जाए। वही बढ़ती भीड़ के देखते हुए प्रशासन ने शक्ति से काम लिया और पुलिस को लाठी चार्ज करनना पड़ा जिसके बाद भीड़ को तितर-बितर कर दिया गया।
वही इस घटना के बाद गृह मंत्री अमित शाह ने उद्धव ठाकरे से फोन पर बात की और पूरे मामले की जानकारी लेते हुए कहा कि प्रशासन को ऐसे मामलों से निपटने के लिए तैयार रहना चाहिए। अमित शाह ने कहाकि लोगों की मदद के लिए महाराष्ट्र सरकार को कदम उठाना चाहिए और केंद्र सरकार की तरफ से उन्हे पूरी सहायता की जाएगी।

उधर आदित्य ठाकरे ने इस पूरे मामले को लेकर केंद्र सरकार पर हमला बोल दिया। आदित्य ठाकरे ने कहा कि हमने इस मुद्दे पर केंद्र सरकार से बात की थी और उन्हें इस बात की सूचना दी थी कि कुछ लोगों को घर भेजा जाए, बावजूद इसके केंद्र सरकार ने लॉक डाउन को आगे बढ़ा दिया। आदित्य ठाकरे ने कहा महाराष्ट्र में करीब 6 लाख लोग लोग शेल्टर होम में रह रहे हैं जिसकी सूचना केंद्र सरकार को दी गई थी, इन लोगों के पास खाने पीने का सामान नहीं है और यह लोग घर जाना चाहते हैं। आदित्य ठाकरे इस घटना के बाद ट्वीट करके कहा कि बांद्रा स्टेशन के हालात और सूरत में हुए दंगे का सिर्फ एक ही कारण है कि लोग अपने घर जाना चाहते है जबकि केंद्र सरकार उन्हे घर भेजने में नाकाम हो रही है। दूसरे राज्यों से आये लोग भोजन नहीं बल्कि घर जाना चाहते है।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में 2000 से ज्यादा लोगों कोरोना से संक्रमित हो चुके है जबकि करीब 200 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। मंगलवार को सिर्फ मुंबई में कोरोना के 200 से अधिक मामले सामने आये है। सिर्फ मुंबई में संक्रमित लोगों की संख्या 1700 के उपर पहुंच चुकी है। धरावी सबसे ज्यादा संक्रमित क्षेत्र है।

आपकी प्रतिक्रिया...