मुरादाबाद में स्वास्थ्य और पुलिस टीम पर पथराव, मुख्यमंत्री ने जताई नाराजगी

हेडलाइन
  • मुरादाबाद में स्वास्थ्य टीम पर भीड़ ने किया हमला
  • कोरोना संक्रमण से मृतक परिवार के टेस्ट के लिए पहुंचे थे उनके घर
  • भीड़ ने एंबुलेंस और पुलिस वाहन को किया क्षतिग्रस्त
  • मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ी कार्रवाई के दिये निर्देश
कोरोना वायरस के खिलाप जारी जंग में सरकार जोर शोर से जुटी है। राज्य सरकारें लगातार इस बात पर जोर दे रही हैं कि सभी लोग डॉक्टर और पुलिस का सहयोग करें लेकिन बावजूद इसके बार-बार मारपीट की घटनाएं सामने आ रही हैं। हालिया मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद शहर का है जहां मेडिकल टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया जिसमें 3 लोग घायल हो गए। भीड़ स्वास्थ्य कर्मियों के साथ साथ पुलिस को भी निशाना बनाया और पुलिस के वाहन पर पथराव कर उसे क्षतिग्रस्त कर दिया।
आप को बतादें कि मुरादाबाद में हाल ही में एक व्यक्ति की मौत कोरोना वायरस की वजह से हुई थी जिसके बाद स्थानीय प्रशासन ने सावधानी बरतते हुए मृतक के पूरे परिवार को टेस्ट और क्वॉरेंटाइन के लिए लेने उसके घर पहुंची लेकिन जैसे ही स्वास्थ्य टीम के लोग संक्रमित परिवार को लेकर उनके घर से निकल रहे थे कि इसी दौरान भीड़ ने पत्थरबाजी शुरू कर दी, जिससे डॉक्टर सहित कुल 3 लोग और मौके पर मौजूद पुलिस टीम भी घायल हो गई। भीड़ द्वारा की गयी पत्थरबाजी में एंबुलेंस और पुलिस की कार भी तोड़ दी गयी। पुलिस के मुताबिक जैसे ही स्वास्थ्यकर्मी संक्रमित परिवार को लेकर वहां से निकल रहे थे कि अचानक से भीड़ आ गयी और पथराव शुरू कर दिया जिससे सभी घायल हो गए।

वहीं इस घटना के बाद राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ा रुख अख्तियार किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि जितने भी लोग इस मामले में शामिल है उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए। इस घटना के बाद योगी आदित्यनाथ ने एक के बाद एक कुल 3 ट्वीट किए।
“स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर व कर्मी सभी सफाई अभियान से जुड़े अधिकारी कर्मचारी सुरक्षा में लगे सभी पुलिस अधिकारी को पुलिस विभाग के कर्मी इस आपदा की घड़ी में दिन-रात सेवा कार्य में जुटे हैं”
“मुरादाबाद में पुलिस स्वास्थ्य एवं स्वच्छता अभियान से जुड़े कर्मियों पर हमला एक अक्षम्य अपराध है जिसकी घोर निंदा की जाती है ऐसे दोषी व्यक्तियों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम तथा राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (NSA) के तहत कार्यवाही की जाएगी”
“दोषियों द्वारा की गई राजकीय संपत्ति के नुकसान की भरपाई उनसे सख्ती से की जाएगी जिला पुलिस प्रशासन ऐसे उपद्रवी तत्वों को तत्काल चिन्हित करें और प्रत्येक नागरिक को सुरक्षा के साथ ही उपद्रवी तत्वों पर पूरी सख्ती भी करें” 
हालांकि यह कोई पहली बार नहीं है इससे पहले भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी से अपील की थी कि कोरोनावायरस के खिलाफ जारी लड़ाई में काम करने वालों का सभी लोग सहयोग करें लेकिन उसके बाद भी ऐसी घटनाएं होना समाज के लिए बहुत गलत है। इसका असर किसी एक परिवार पर नहीं बल्कि पूरे समाज पर पड़ेगा।

आपकी प्रतिक्रिया...