महाराष्ट्र में पिछले 24 घंटे में 552 कोरोना के केस

हेडलाइन
  • महाराष्ट्र में 24 घंटे में बढ़े 552 संक्रमण के केस 
  • अधिक टेस्टिंग के बाद बढ़ा संक्रमण का आकड़ा
  • देवेंद्र फडणवीस ने उद्धव सरकार को दिया निर्देश 
  • महाराष्ट्र में 4200 लोग संक्रमित, 225 की मौत 
देश में लगातार कोरोना का संक्रमण बढता ही जा रहा है और सरकारी रणनीति पूरी तरह से कारगर साबित नही हो पा रही है। हाल ही में महाराष्ट्र से दिल दहलादेने वाली खबर सामने आ रही है  जहां पिछले 24 घंटे में 500 से अधिक संक्रमण का केस सामने आया है। मुंबई सहित पूरे महाराष्ट्र के अलग अलग इलकों से 552 से अधिक लोग संक्रमित पाये गये है वहीं पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की मौत भी हो चुकी है। अचानक से बढ़े संक्रमण को लेकर अभी तक कुछ खुलासा नही हुआ है। वहीं डाक्टरों की मानें तो अचानक से टेस्टिंग में बढ़ोत्तरी हुई है जिससे संक्रमित लोगों की संख्या  में बढ़ोत्तरी हुई है। डाक्टरों के मुताबिक महाराष्ट्र में कोरोना अभी बढ़ते हुए समय पर है इसे अभी रोक पाना थोड़ा मुश्किल है। वहीं राज्य के कुछ हिस्से में लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान भी नही रखा जा रहा है। सब्जी मंडी और राशन की दुकानों पर मनमानी करते हुए लोग एक साथ भीड़ में खड़े हो रहे है।
महाराष्ट्र में पहले से ही संक्रमण सबसे ज्यादा है ऐसे में  अगर लोगों को सतर्क रहने की जरुरत है वर्ना यहां फैलने का खतरा लगातार बना रहेगा। देश के अन्य राज्यों की तुलना में महाराष्ट्र सबसे आगे चल रहा है यहां अब तक 4200 से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके है जबकि 225 से अधिक लोगों की मौत भी हो चुकी है। सिर्फ मुबंई की बात करें तो यहां 2700 से अधिक लोग संक्रमित है जबकि 130 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी हैै। मुंबई में संक्रमण का खतरा सबसे ज्यादा है और इसे सरकार ने रेड जोन में रखा है। वहीं डाक्टरों की कड़ी मेहनत के बाद 300 से अधिक लोगों को ठीक भी किया जा चुका है महाराष्ट्र में सरकार लगातारा लोगों के लिए काम कर रही है ताकि कोरोना पर जल्द से जल्द विजय पायी जा सके।
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कोरोना पर चिंता व्यक्त करते हुए सीएम उद्धव को कुछ सुझाव दिए और कहा कि कोरोना पर टेस्टिंग और बढ़ाने की जरुरत है। देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राज्य में करीब 80 प्रतिशत केस दूसरे के संपर्क में आने से फैल रहा है। इसलिए टेस्टिंग प्रोटोकॉल को सही से फॉलो करना चाहिए और संक्रमित लोगों को जल्द से जल्द ढूंढ कर अलग करना होगा। इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री ने उद्धव ठाकरे को कई निर्देश और सुझाव दिये है जिससे राज्य की जनता को संक्रमण से बचाया जा सके।

आपकी प्रतिक्रिया...