सोनिया के सुझाव पर भड़की बीजेपी, कहा नफरत ना फैलाएं

  • सोनियां गांधी ने सरकार की नीतियों को बताया लगत
  • गरीबों व मजदूरों को 7500 रुपये देने को कहा
  • सोनिया ने टेस्ट किट को लेकर उठाया सवाल 
  • बीजेपी ने कहा देश में नफरत ना फैलाएं सोनिया गांधी 

 

कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी ने आज कोरोना वायरस को लेकर चिंता व्यक्त की और कहा कि देश में मजदूरों और किसानों की हालत खराब है जिससे के लिए उन्होने सरकार को कई सुझाव दिये। इससे पहले भी सोनियां गांधी की तरफ से सरकार को सुझाव दिये गये थे जिस पर सरकार ने अमल भी किया था लेकिन इस बार का सुझाव राजनैतिक सुझाव लगता है। सोनिया गांधी ने सरकार से अपील करते हुए कहा कि देश के सभी गरीब और मजदूर वर्ग को 7500 रुपये उनके अकांउट में ट्रांसफर करने चाहिए जिससे वह अपने खाने पीने का प्रबंध आसानी से कर सके। देश के ज्यादातर लोग पैसे की किल्ल्त से जूझ रहे है जिससे उन्हे परेशानियों को सामना करना पड़ रहा है।

सोनिया गांधी ने सरकार के सामने किसानों और मजदूरों का भी मसला उठाया और कहा कि यह सभी लोग परेशान है जिससे इनकी मदद सरकार को तुरंत करनी चाहिए। सोनिया गांधी ने कहा कि किसान भी पूरी तरह से परेशान है क्योकि उसे अनाज बेचने में परेशानी हो रही है साथ ही उसे खेती के लिए सामान उपलब्ध नहीं हो पा रहे है।

सोनियां गांधी ने कोरोना को लेकर सरकार की नीतियों की भी निंदा की और कहा कि सरकार टेस्ट करवाने में फेल हो रही है जिससे कोरोना पर रोक लगाना मुश्किल हो रहा है सोनियां गांधी ने सरकार द्वारा मंगवाई गयी टेस्ट किट पर भी सवाल उठाया और कहा कि सरकार ने जो टेस्ट किट मंगाई है वह उच्च क्वालिटी की नही है।

उधर सोनिया के तमाम सुझावों को लेकर बीजेपी ने पटलवार किया है। बीजेपी ने कहा कि सोनिया गांधी जानबूझकर गलत संदेश लोगों में फैला रही है ऐसी मुश्किल घड़ी में कांग्रेस को साथ आना चाहिए और लोगों की मदद करनी चाहिए उन्हे खाना खिलाना चाहिए। बीजेपी ने कहा कि तमाम लोग है जो अपनी हैसियत के अनुसार लोगों की मदद कर रहे है और किसी गरीब का पेट भर रहे है। बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि कांग्रेस पार्टी पहले से ही फूट डालने का काम करती आ रही है और आज भी वह उसी राह पर है। बीजेपी नेता ने सोनिया गांधी के बयान को निंदनीय बताया और कहा कि इस मुश्किल घड़ी में सरकार की नीतियों कि निंदा करना और आम जनता में विवाद पैदा करने वाले बयान देना गलत है।

आपकी प्रतिक्रिया...