रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने म्यूचुअल फंड निवेशकों को दी बड़ी राहत

  • रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का बड़ा ऐलान
  • म्यूचुअल फंड के लिए दिया 50 हजार करोड़ 
  • पी.चिदंबरम ने रिजर्व बैंक के फैसले का किया स्वागत
  • आरबीआई: वित्तीय स्थिरता बनाए रखेंगे 
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने सोमवार को म्यूचुअल फंड के संकट को देखते हुए एक बड़ा फैसला लिया जिसके तहत रिजर्व बैंक ने म्यूचुअल फंड के लिए 50 हजार करोड़ के नगदी की व्यवस्था की जिससे म्यूचुअल फंड के निवेशकों की चिंता कम हो सके। कोरोना की वजह से आर्थिक तंगी से जूझ रहे बाजारों के लिए यह कदम काफी कारगर साबित हो सकता है। अमेरिका से चलने वाले  म्यूचुअल फंड हाउस फ्रैंकलिन टेंपलटन ने अचानक से भारत के 6 डेट फंड को बंद कर दिया जिससे भारत के निवेशकों की चिंताा बढ़ गयी। लेकिन आरबीआई द्वारा उठाये गये इस कदम से निवेशकों की चिंता कम होगी। आरबीआई ने कहा कि म्यूचुअल फंड हाउस फ्रैंकलिन टेंपलटन की तरफ से बंद किये गये 6 फंड की वजह से भारत में स्थिति में ज्यादा फर्क नहीं पड़ने देंगे आरबीआई ऐसे किसी भी तरह के संकट से गुजरने के लिए हमेंशा तैयार है। रिजर्व बैंक की तरफ से यह आश्वासन दिया गया है कि वह कोविड19 से पूरी तरह से संघर्ष करने को तैयार है और इस दौरान आने वाली वित्तीय अस्थिरता से भी आसानी से निपटा जा सकता है।

 म्यूचुअल फंड हाउस फ्रैंकलिन टेंपलटन की तरफ से फंड को बंद करने को लेकर सफाई दी गयी और कहा गया कि कोरोना वायरस की वजह से यूनिट वापस लेने का दबाव और बॉड बाजार से लिक्विडिटी की कमी के चलते यह फैसला लेना पड़ा है। कंपनी ने कहा कि कोरोना की वजह से निवेशक तेजी से अपना पैसा निकाल रहे है जिससे कंपनी खतरे के निशान पर पहुच गयी। हालांकि कंपनी ने इस बात का आश्वासन दिया है कि निवेशकों के पैसे डूबेंगे नहीं बल्कि उन्हे अलग अलग किश्तो में वापस किया जायेगा।
आरबीआई के इस फैसले से जहां निवेशको को बड़ी राहत मिलेगी वहीं बाजार के हाल में भी सुधार की उम्मीद की जा रही है। आरबीआई के इस फैसले का सरकार सहति बाकी दलों ने भी स्वागत किया है। सरकार की तरफ से कहा गया कि आरबीआई के इस कदम से निवेशकों की चिंता कम हो जायेगी और वह बाजार में निवेश को और गति देंगे। वही पूर्व वित्त मंत्री और विपक्षी नेता पी.चिदंबरम में भी रिजर्व बैंक के इस फैसले का स्वागत किया है। चिदाम्बर में ट्वीट करते हुए लिखा ” मैं म्यूचुअल फंड के लिए 50 हजार करोड़ की विशेष तरलता सुविधा की आरबीआई की घोषणा का स्वागत करता हूं मुझे खुशी है कि आरबीआई ने दो दिन पहले व्यक्त की गयी चिंताओं पर ध्यान दिया और त्वरित कार्रवाई का अनुरोध किया”

म्यूचुअल फंड हाउस फ्रैंकलिन टेंपलटन की तरफ से भारत में बंद हुई स्कीमें
1. फ्रैंकलिन इंडिया टेंपलटन लो ड्यूरेशन फंड
2. फ्रैंकलिन इंडिया टेंपलटन इनकम ऑपरच्यूनिटी फंड
3. फ्रैंकलिन इंडिया टेंपलटन क्रेडिट रिस्क फंड
4. फ्रैंकलिन इंडिया टेंपलटन शार्ट टर्म इनकम प्लान
5. फ्रैंकलिन इंडिया टेंपलटन शार्ट बॉन्ड फंड
6. फ्रैंकलिन इंडिया टेंपलटन डायनामिक एक्यूरियल फंड

आपकी प्रतिक्रिया...