मोस्ट वांटेड हिजबुल कमांडर रियाज नायकू को सेना ने किया ढेर

  • हिजबुल कमांडर रियाज नायकू को सेना ने किया ढेर
  • कश्मीर अपने गांव आया था आतंकी रियाज नायकू
  • आतंकी जिस घर में छिपा था सेना ने उसे आईईडी से उड़ा दिया
  • बुरहान वानी के बाद रियाज बना था हिजबुल कमांडर 
पिछले कुछ दिनों से जम्मू कश्मीर के हालात काफी गर्म थे सेना और आतंकवादियों के बीच लगातार मुठभेड़ देखने को मिल रही थी। इस दौरान सेना ने कई आतंकवादियों को मार गिराया जबकि सेना के भी कई जवान शहीद हो गए लेकिन बुधवार को सेना को उस समय बड़ी सफलता हाथ लगी जब सेना ने हिज्बुल कमांडर रियाज नायकू को मार गिराया। सेना को हिज्बुल कमांडर के जम्मू कश्मीर में होने की खबर लगी जिसके बाद सेना ने एक ऑपरेशन चलाया और हिजबुल कमांडर रियाज नायकू को ढेर कर दिया।

बुरहान वानी के मौत के बाद से रियाज को हिजबुल का कमांडर बनाया गया था और वह जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों का बड़ा चेहरा था जो घाटी के युवाओं को आतंकवाद के लिए प्रेरित करता था। हिज्बुल कमांडर रियाज काफी दिनों से सेना के निशाने पर था क्योंकि बुरहान वानी के बाद उसने घाटी में जमकर तबाही मचाई थी। जानकारी के मुताबिक 35 साल का रियाज नायकू पहले गणित का टीचर था लेकिन बाद में वह एक मोस्ट वांटेड आतंकवादी बन गया।
जानकारी के मुताबिक सेना को मंगलवार को इस बात की खबर मिली हिजबुल कमांडर रियाज नायकू अपने गांव बेगपोरा आया हुआ है जिसके बाद सेना ने पूरे गांव को घेर लिया, लम्बे समय तक सेना का सर्च ऑपेरशन चलता रहा और आखिर में सेना ने उस घर को ढूंढ निकाला जहां रियाज छुपा हुआ था। सेना ने बिना मौका गवांए ही जिस घर में रियाज छुपा था उस घर को आईईडी से उड़ा दिया जिसमें रियाज की मौत हो गयी। फिलहाल सेना की तरफ से अभी भी सर्च ऑपरेशन जारी है वहीं सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कश्मीर मोबाइल इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। हिज्बुल कमांडर के मारे जाने पर सेना और पुलिस दोनों ने कहा कि अब घाटी में शांति की उम्मीद करते हैं।

हाल ही में आतंकवादियों की तरफ से सेना और सीआरपीएफ के जवानों पर हमला किया गया था जिसमें सेना के 2 अधिकारियों सहित 5 जवान शहीद हो गए थे जबकि सीआरपीएफ कि कुछ जवान घायल हो गए थे।

आपकी प्रतिक्रिया...