हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

पुणे। सेवा करना भारत का मूल विचार है क्योंकि सेवा परमो धर्मः हमारे सभी शास्त्रों में कहा है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सेवाकार्य इसी विचार के अनुरूप है, यह प्रतिपादन रा. स्व. संघ के अखिल भारतीय सेवा प्रमुख पराग अभ्यंकर ने मंगलवार, 1 जनवरी को किया।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सेवा विभाग की तरफ से सेवा प्रकल्पों की जानकारी देनेवाली ‘सेवा गाथा’ वेबसाइट का अनावरण प्रसिद्ध उद्यमी प्रकाशजी धोका के हाथों यहां मोतीबाग कार्यालय में हुआ। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में अभ्यंकर बोल रहे थे। सेवा विभाग के प्रांत प्रमुख अनिलजी व्यास इस अवसर पर प्रमुखता से उपस्थित थे।

इस अवसर पर श्री. अभ्यंकर ने कहा, “संघ कार्यकर्ताओं के माध्यम से अत्यंत प्रभावी कार्य जारी है। उनकी जानकारी लोगों के सामने आए, यह विचार डेढ़-दो वर्ष पूर्व आया। समाज के आखिरी छोर के व्यक्ति का उत्थान हुए बिना देश को परमवैभव नहीं मिल सकता।

रा. स्व. संघ के अधिकांश सेवाकार्य इसी वर्ग में है। ये सारे सेवाकार्य निःशुल्क है। इतना परिणामकारी कार्य लोगों तक जाना चाहिए, इसलिए यह वेबसाइट शुरू की गई। इसका मोबाइल एप भी जल्द ही तैयार होगा। अब तक हिंदी व अंग्रेजी में उपलब्ध यह वेबसाइट अब मराठी में भी आई है। गांव-कस्बों के लोगों को इसका लाभ होगा। आज केवल नकारात्मक समाचार देखने और सुनने को मिलते है। ऐसे में इस वेबसाइट पर दी गई सक्सेस स्टोरीज एक उपाय है।”

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu