नए भारत की नई पहचान

Continue Reading नए भारत की नई पहचान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संकल्पना का नया भारत वास्तविकता में जरूर आना चाहिए। रामराज्य भारत में पुन: आए और अखण्ड भारत फिर से बने।

योग – एक जीवन ज्ञान

Continue Reading योग – एक जीवन ज्ञान

योग का संबंध अपने मन से है। पंच महाभूतों से बना शरीर यही ज्ञान देता है कि पंचतत्वों का सात्विक या तामसी स्वरूप मनुष्य की मानसिक अवस्था का दार्शनिक रूप है। सामान्य मानव को शरीर और मन की सुप्त शक्ति का अंदाजा नहीं होता। योग साधक अपनी अखंड योग साधना से इन सुप्त शक्तियों को जागृत करता है।

अध्यात्म से जुड़े युवा शक्ति

Continue Reading अध्यात्म से जुड़े युवा शक्ति

स्वामी विवेकानंद की जयंती 12 जनवरी को अंतरराष्ट्रीय युवक दिवस पर आवाहन करते हैं, ए मेरे युवा बंधुओ और बहनो, अध्यात्म के मार्ग पर आइये और अपनी साधना से- शक्ति से पूरे विश्व में सकारात्मक क्रांति का उद्घोष करें। चलो अपने अंदर के विवेकानंद को जगाते हैं और एक सम्पूर्ण,…

संस्कार और उनका महत्व

Continue Reading संस्कार और उनका महत्व

गर्भसंस्कार से अंत्येष्टि तक किए जाने वाले संस्कार हजारों सालों से हमारे नित्य कर्म का एक महत्वपूर्ण अंग बन चुके हैं। संस्कारों की रीति, तरीके और मुख्यत: उनका शास्त्रीय तथा वैज्ञानिक उद्देश्य आनेवाली पीढ़ी जानें इसके लिए संस्कारों का मुख्य स्वरूप और उद्देश्य अबाधित रखकर अलग अंदाज में ‘संस्कार शिविर’ आयोजित किए जाने चाहिए।

End of content

No more pages to load