टेबल टॉप रनवे की वजह से हुआ हादसा, 17 यात्रियों की मौत, 120 घायल

  • एयर इंडिया का विमान दुर्घटनाग्रस्त
  • पायलट सहित 17 यात्रियों की मौत, 120 घायल
  • विमान में कुल 190 लोग सवार थे
  • दुर्घटना के बाद विमान दो हिस्सों में टूटा 
दुबई से आ रहा एयर इंडिया का विमान शुक्रवार को केरल एयर पोर्ट पर लैंडिंग के दौरान फिसल कर करीब 30 फीट गहरी खाई में गिर गया। इस दुर्घटना में पायलट सहित 17 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि सैंकड़ो लोग बुरी तरह से घायल हुए है। विमान दुर्घटना के बाद दो हिस्सों में टूट कर अलग हो गया। दुर्घटना के बाद से पुलिस और स्थानीय लोग बचाब के लिए आगे आये और सभी की मदद की, यात्रियों को यह समझ ही नहीं आ रहा था कि प्लेन के लैंडिंग के बाद क्या हो गया जो सब कुछ बदल गया और लोग जान बचाने को बेबस हो गये है। 
 
एयर इंडिया का विमान जिस वक्त दुर्घटनाग्रस्त हुआ उसमें 170 यात्री, 10 बच्चे, 2 पायलट और 4 केबिन क्रू मेंम्बर सवार थे। जानकारी के मुताबिक कुल 17 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है जबकि करीब 120 से अधिक लोगों का घायल होने के बाद इलाज जारी है जिसमें से करीब 15 लोगों की हालत नाज़ुक बनी हुई है। 
 
 
यह दुर्घटना कालीकट इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हुई यह कोझीकोड से करीब 30 किमी दूर है। कालीकट इंटरनेशनल एयरपोर्ट का रनवे टेबल टॉप रनवे है और ऐसे रनवे बारिश के दौरान खतरनाक हो जाते है और यहां लैंडिंग और टेक ऑफ दोनों ही काफी रिस्की हो जाता है। टेबल टॉप रनवे उसे कहते है जिस रनवे को दोनों तरफ खाई होती है। ऐसे में अगर कोई दुर्घटना होती है तो विमान सीधे खाई में गिर जाता है। हालांकि शुक्रवार को हुई दुर्घटना में गनीमत इस बात की रही कि दुर्घटना के बाद विमान में आग नहीं लगी वरना यह हादसा और भीषण हो जाता और मृतकों की संख्या में इज़ाफा हो सकता था। 

 
दुर्घटना के बाद पीएम मोदी ने भी केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजनयन से बात की और हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। पीएम ने ट्वीट कर घटना पर दुख प्रकट किया और घायलों के जल्द ठीक होने की प्रार्थना की। 
 
 
वहीं उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने भी इस घटना पर दुख प्रकट किया और कहा कि इसकी जांच की जायेगी और दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी। हरदीप पुरी के मुताबिक सभी को प्लेन से बाहर निकाल लिया गया है और रेस्क्यू ऑपरेशन खत्म हो चुका है। जांच टीम भी घटना स्थल पर पहुंच चुकी है। सभी घायलों का स्थानीय अस्पतालों में इलाज जारी है। 

आपकी प्रतिक्रिया...