नजरअंदाज न करें नाखूनों को

कई स्त्रियां यों तो बहुत सुंदर होती हैं, परंतु आड़े-तिरछे नाखून व पुरानी लगी नेलपॉलिश उनके हाथों की खूबसूरती को नष्ट कर देती है। नाखूनों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए प्रोटीन अति आवश्यक है, क्योंकि नाखून केराटिन नामक प्रोटीन से बनते हैं। यदि नाखून जल्दी टूटते हों या बढ़ने के बाद चटक जाते हों तो स्पष्ट है कि आपके आहार में पर्याप्त पौष्टिक तत्व नहीं हैं। नाखूनों की चमक व गुलाबी आभा के लिए कैल्शियम की भी अधिक जरूरत होती है।

यदि नाखून कमजोर व नरम हों तो आधा चम्मच जिलेटिन पाउडर, शरबत, पानी या चाय के साथ लें इससे नाखून मजबूत हो जाएंगे, किसी अच्छी नेल क्रीम से मालिश करने से भी नाखूनों का लचीलापन कम होता है और नाखून पुष्ट हो जाते हैं।

नाखूनों को दें सही आकार-

नाखूनों को हमेशा सही आकार में ही काटें। हाथों के नाखून न तो अधिक चपटे काटें न अधिक नुकीले, बल्कि गोलाई लिये हुए अंडाकार में ही काटें। नाखूनों को हमेशा तेज नेल कटर से काटना चाहिए, कम धार वाला कटर प्रयोग करने से नाखून ठीक तरह से नहीं कटते व नाखूनों पर निशान भी पड़ जाते हैं।

पैरों के नाखून चपटे काटें, तीखे नहीं, वैसे पैरों के नाखून हाथों की अपेक्षा अधिक सख्त होते हैं अत: काटने से पहले उन्हें थोड़ी देर तक हलके गरम पानी में भिगों लें, जिससे नाखून थोड़े नरम पड़ जाएंगे। अच्छा हो यदि पेडीक्योर ट्रीटमेंट करने और पैरों के नाखून काटने के बाद नेल फाइलर से उन्हें अच्छी तरह तराश लें, ताकि कहीं किनारे नुकीले न रह जाएं, क्योंकि वहीं से नाखूनों के टूटने का डर रहता है। इसके अतिरिक्त हाथों, पैरों के नाखून बहुत अधिक लंबे भी अच्छे नहीं लगते। आजकल सामान्य आकार में बढ़े हुए व गोल कटे नाखूनों का ही फैशन है।

ड्रेस से मेल खाते नेल पेंट और सही शेप में कटे नाखून अंगुलियों का आकर्षण बढ़ाते हैं पर नाखून कटे फटे या कमजोर हों तो सारा सौंदर्य ही नष्ट हो जाता। जरूरी है नाखूनों की सही देखभाल।

जमी मैल हानिकारक-

नाखूनों की सफाई रखना भी अत्यंत आवश्यक है, क्योंकि नाखूनों में जमी मैल जहां स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक होती है, वहीं इससे यह भी सिद्ध होता है कि आप सफाई पसंद नहीं हैं। यदि आप बागवानी करती हैं तो बगीचे में काम करने से पहले नाखूनों में साबुन भर लें। इससे मिट्टी नाखूनों के अंदर तक नहीं जाएगी। काम समाप्त हो जाने पर साबुन निकाल दें। कपड़े धोने से भी नाखूनों की मैल निकल जाती है। इसके अलावा मेनीक्योर व पेडीक्योर से भी नाखून साफ हो जाते हैं। मेनीक्योर सेट के अंतर्गत नाखूनों को साफ करने का एक छोटा औजार या क्लीनर होता है, जिससे मैल भली-भांति निकाली जा सकती है। आरेंज स्टिक द्वारा भी यह काम लिया जा सकता है। इससे भली प्रकार नाखूनों की मैल साफ की जा सकती है। शैंपू या तरल साबुन गुनगुने पानी में मिलाकर कुछ देर तक नाखून उसमें डुबोए रखने के बाद साफ करने से भी मैल निकल जाता है। नींबू के उपयोग के बाद बचा हुआ छिलका रगड़ने से भी मैल निकलता है व नाखूनों में चमक आती है।

नाखूनों की चमक, सुंदरता व मजबूती के लिए रात को सोते समय नाखूनों पर जैतून का तेल या बादाम रोगन हल्का गरम करके लगाएं और मालिश करें। सुबह नहाने के बाद क्युटिकल पुशर से कोल्ड क्रीम लेकर नाखूनों के आसपास की त्वचा में लगाएं, इससे वहां की त्वचा पुष्ट होती है और नाखून मजबूत होते हैं।

नाखून बढ़ाने के तरीके-

नाखून न बढ़ना भी एक समस्या है। इसके लिए निम्नलिखित उपाय करें –

1) एक प्याला गरम पानी में नींबू निचोड़ लें व अपने नाखून उसमें डुबोए रखें, 2 मिनट बाद ठंडे पानी से धो लें। 5 दिन के अंदर 4 बार ऐसा करने से नाखून बढ़ने लगेंगे।

2) एक बर्तन में गुनगुना पानी लेकर 4 चम्मच नमक डालें। उसमें दस पंद्रह मिनट के लिए हाथ-पैर डुबोकर रखें। फिर उन्हें साफ तौलिए से पोंछकर सुखा लें। इस क्रिया को लगातार पंद्रह दिन करने से नाखूनों का बढ़ना प्रारंभ हो जाता है।

3) जैतून के तेल की मालिश से भी नाखून बढ़ने लगते हैं। यादि दांत से नाखून कुतरने की आदत हो तो इस आदत से छुटकारा पाने की कोशिश करें।

नेल पॉलिश का चुनाव-

आज हर वर्ग की महिलाएं नेल पॉलिश का प्रयोग करती हैं। हमेशा नेल पॉलिश अच्छी किस्म की ही लें। घटिया किस्म की नेल पॉलिश नाखूनों को भी खराब करती है, साथ ही इसमें अच्छे रंग भी नहीं मिलते। नेल पॉलिश हमेशा उसी रंग की लें जो आपके नाखूनों पर अच्छी लगती हो। सांवले हाथों पर मैरून, भूरा, जामुनी आदि रंग बहुत खिलते हैं व गौर वर्ण के हाथों पर हल्का गुलाबी, हल्का जामुनी, स्ट्रॉबेरी, रस्ट व लगभग सभी रंग अच्छे लगते हैं, किंतु बहुत अधिक गोरे हाथों पर कॉफी जैसे अत्यंत गहरे रंग लगाना ठीक नहीं है, इसी प्रकार काले हाथों पर ऐसे रंगों का चुनाव न करें, जो एकदम विपरीत लगते हों।
नेल पॉलिश का बेसकोट अवश्य खरीद लें, जिसे कलरलेस नेल एनेमल या ट्रांसपेरेंट नेल पॉलिश भी कहते हैं। नेल पॉलिश लगाने से पहले नाखूनों पर इसकी हल्की सी परत लगा लेते हैं, इसीलिए यह बेसकोट कहलाता है। यह कोट सूख जाने के बाद आप जिस भी रंग की नेल पॉलिश अधिक देर तक टिकी रहती है और नाखूनों की प्राकृतिक रंग व चमक खराब नहीं होती। नेल पॉलिश सुखने के बाद इस ट्रांसपेरेंट नेल पॉलिश को टॉप कोट के रूप में भी इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे नेल पॉलिश की चमक में वृद्धि होती है.

फ्रास्टेड नेल पॉलिश पर तो इसका प्रयोग करने की आवश्यकता नहीं पड़ती, परंतु प्लेन नेल पॉलिश पर इसका प्रयोग किया जा सकता है। साधारणतया जब नेल पॉलिश न भी लगानी हो तो इसका सिंगल कोट यदि नाखूनों पर लगा लें, तो भी हल्की चमक बनी रहती है। इसका प्रयोग इन महिलाओं के लिए अत्यंत आवश्यक है जो नेल पॉलिश लगाए बिना नहीं रह सकती है। कुछ महिलाओं की यह आदत होती है कि नेल पॉलिश एक रंग का उतारा व दूसरा उसी समय लगा लिया जिससे नाखूनों को स्वस्थ रहने के लिए पर्याप्त हवा नहीं मिलती। इससे नाखून कई रोगों के शिकार हो जाते हैं। इसलिए नेल पॉलिश का बेसकोट नाखूनों के लिए एक आवश्यक प्रसाधन है।

खरीदते समय ध्यान दें-

नेल पॉलिश खरीदते समय ध्यान रखें कि वह अधिक गाढ़ी न हो। इसे हिलाकर 3-4 बार ब्रश में लेकर देख लें कि यह आसानी से नीचे गिर रही है या नहीं, अन्यथा वह घर पर रखने के बाद और भी गाढ़ी व चिपचिपी हो जाएगी, जिसे लगाने में कठिनाई होगी। ब्रश नाखूनों के साथ चिपकेगा व नेल पॉलिश सही नहीं लगेगी। यदि आप इसे पतला करने के लिए नेल पॉलिश रिमूवर का प्रयोग करेंगी तो यह पतली तो हो जाएगी, लेकिन इससे नेल पॉलिश की चमक कम हो जाती है व असली रंग भी खराब हो जाता है, साथ ही ब्रश भी देखभाल कर ऐसा लें जिसके बाल बराबर कटे व मुलायम हों।

नेल पॉलिश खरीदते समय नामों के चक्कर में धोखा न खाएं। साथ ही एक समय में ढेर सारे शेड की नेल पॉलिश खरीद कर न रखें, क्योंकि बाद में इनसे मन ऊब जाएगा या वे पड़ी-पड़ी गाढ़ी होकर खराब हो जाएंगी। पहला खत्म होने पर ही दूसरा शेड लें। ऐसे शेड कभी न खरीदें जो अटपटे से हों, जैसे तैलीय व सिल्वर शेड में हरे, नीले व बैंगनी। नेल पॉलिश का रंग पोशाकों के रंगों से मेल खाते ही अच्छे लगते हैं।

जिन महिलाओं के नाखूनों का रंग काला पड़ चुका हो, वे कुछ समय के लिए या तो नेल पेंट लगाना छोड़ दें या फिर हल्के रंगों का ही प्रयोग करें। हरा रंग हमेशा प्रयोग में लाने से नाखून अधिक बदरंग हो जाएंगे। हमेशा नेल पॉलिश रिमूवर अच्छी क्वालिटी का प्रयोग ही करें। लेकिन नाखून स्वस्थ व सुंदर बनाए रखने के लिए बेहतर यही है कि आप नेल पॉलिश व रिमूवर का प्रयोग अधिक न करें।

आपकी प्रतिक्रिया...