फुटवेयर पांव ना रहे जमीन पर

Continue Reading फुटवेयर पांव ना रहे जमीन पर

जूतें-चप्पल केवल हमारे पैरों की सुरक्षा ही नहीं करते, वे फैशन में भी शुमार हो गए हैं। दिन और परिधानों के अनुसार अलग-अलग रंगों, डिजाइनों में ये उपलब्ध हैं। लेकिन यह ध्यान रहें, ये आरामदायी हों, अनावश्यक ऐंठन पैदा करने वाले न हो। फैशन का माने सेहत से खिलवाड़ नहीं है।

सुन्दर केशों का रहस्य

Continue Reading सुन्दर केशों का रहस्य

सुन्दर केश आपके व्यक्तित्व को निखारते हैं, पर ऐसा बहुत कम महिलाओं के साथ होता है कि उनके केश सुन्दर और स्वस्थ बने रहें। केशों का झड़ना आम बात है जो दुनिया भर की महिलाओं के लिए चिन्ता का विषय बना हुआ है।

लगन व निष्ठा की मिसाल और प्रेरणा है – जयवंती बेन मेहता

Continue Reading लगन व निष्ठा की मिसाल और प्रेरणा है – जयवंती बेन मेहता

गांधीजी ने कहा था-जब कोई स्त्री किसी काम में जीजान से लग जाती है तो उसके लिए कुछ भी नामुमकीन नहीं होता। इसी हकीकत को बया करती है जयवंती बेन मेहता। ये कहना भी बिल्कुल गलत नहीं होगा कि जयवंती बेन मेहता ने जो ठाना वो करके दम लिया और आज भी वे उसी आत्मविश्वास के साथ सफलता के परचम लहराने के लिए आतुर रहती है।

नजरअंदाज न करें नाखूनों को

Continue Reading नजरअंदाज न करें नाखूनों को

कई स्त्रियां यों तो बहुत सुंदर होती हैं, परंतु आड़े-तिरछे नाखून व पुरानी लगी नेलपॉलिश उनके हाथों की खूबसूरती को नष्ट कर देती है। नाखूनों को स्वस्थ बनाये रखने के लिए प्रोटीन अति आवश्यक है, क्योंकि नाखून केराटिन नामक प्रोटीन से बनते हैं।

बिंदिया क्या बोले

Continue Reading बिंदिया क्या बोले

बिंदी का मतलब माथे पर सजी बिंदी। वह मात्र सांैंदर्य प्रसाधन नहीं है, बल्कि समाज में सुहाग के चिह्न के रूप में भी मौजूद हैं। बिंदिया ने वर्तमान समय में न केवल नए आयाम गढ़े हैं, अपितु खुद को स्त्री के व्यक्तित्व से भी जोड़ लिया हैं। जो बिंदी आप…

End of content

No more pages to load