कोरोना से जंग, भारत तैयार

अगर पूरी दुनिया के आंकड़ों पर नजर डालें तो इस वायरस से करीब 2.5 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं और यह आंकड़ा लगातार अभी बढ़ता जा रहा है।

चीन के वुहान से शुरु हुआ कोरोना वायरस भारत तक पहुंच जायेगा शायद इसका किसी को अंदाजा नहीं था, चीन की यह घटना हमारे लिए सिर्फ एक समाचार के तौर पर थी, लेकिन अब वास्तविकता यह है कि भारत के कईलोग खुद इससे प्रभावित हो चुके हैं। कोरोना वायरस की अगर उत्पत्ति की बात करें तो यह चीन के वुहान शहर से शुरु हुआ था जिसके बाद यह चीन के अलग – अलग शहरों में फैला और अब पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले रहा है। हालांकि इसकी उत्पत्ति को लेकर अभी तक कोई सटीक जानकारी किसी के पास नहीं है लेकिन एक अध्यय द्वारा यह बात सामने आयी है कि इंसानों के सांप, चमगादड़, सीफूड, मुर्गी, और अन्य जानवरों के संपर्क में आने के बाद यह वायरस फैलना शुरु हुआ है। चीन में इन सभी जानवरों को खाने में बड़ी मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है जिससे इसके फैलने की आंशंका जताई जा रही है।

कोरोना वायरस की शुरुआत वैसे तो चीन से हुई थी लेकिन अब यह करीब 200 देशों तक पहुंच चुका है और इसमें से कुछ देशों की हालत काफी खराब चल रही है। कोरोना वायरस ने जिन देशों को पूरी तरह से अपनी चपेट में ले लिया है उनमें ईरान, इटली, थाईलैंड, सिंगापुर, जापान, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया, मलेशिया, फ्रांस, जर्मनी, अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, भारत और पाकिस्तान का नाम शामिल है। इसके अलावा भी कई सारे देश है जो कोरोना वायरस से प्रभावित हैं। चीन सहित सभी देश अपनी – अपनी सुरक्षा और सुविधा के अनुसार इसे रोकने की पुरजोर कोशिश कर रहे हैं, लेकिन उतनी सफलता नहीं मिल रही है जितनी मिलनी चाहिए और हम इस बात का अंदाजा इस तरह से लगा सकते है कि चीन और अमेरिका जैसे शक्तिशाली देशों में मरने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। एक सप्ताह में हजारों बेड का अस्पताल तैयार करने जैसे बड़े रिकॉर्ड वाला चीन भी कोरोना वायरस के आगे घुटने टेक दिया है और लोगों को बचानें सक्षम नहीं हो पा रहा है। अब तक के अगर कुल आंकड़ों पर नजर डालें तो मरने वालों की संख्या पूरे विश्व में 10 हजार के पार हो चुकी है। ईरान में कोरोना वायरस से करीब 900 लोगों की मौत हो चुकी है तो वहीं इटली में अब तक 2 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। चीन में इस वायरस से मरने वालों की संख्या 3 हजार को पार कर चुकी है जबकि करीब 80 हजार से ज्यादा लोग इससे प्रभावित हैं और उनका इलाज जारी है। अगर पूरी दुनिया के आंकड़ों पर नजर डालें तो इस वायरस से करीब 2.5 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं और यह आंकड़ा लगातार अभी बढ़ता जा रहा है।

कोरोना वायरस के लक्षण-

कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति को सबसे पहले बुखार होता है।

संक्रमित व्यक्ति को सूखी खांसी भी शुरू हो जाती है

करीब 1 हफ्ते बाद उसे सांस लेने में भी परेशानी होने लगती है

इसके अलावा सिर दर्द, बार बार छींक आना, खांसी, सांस की तकलीफ, बुखार सारे एक साथ शुरू हो जाते हैं अगर ऐसी स्थिति हो तो तुरंत इसकी सूचना अपने चिकित्सक को दें।

कोरोना वायरस से बचाव-

कोरोना वायरस से बचने के लिए सफाई बहुत जरूरी है इसके लिए आपको अपने हाथों को बार-बार धोते रहना चाहिए।

छींकते या खांसते समय रुमाल या नैपकिन का इस्तेमाल करें और उसे तुरंत डस्टबिन में डाल दें। टीशु नहीं होने पर छींकते और खांसते समय अपने हाथ के बाजू का इस्तेमाल करें।

बिना हाथ धोए अपनी आंख नाक और मुंह को ना छुएं।

जो लोग बीमार हैं उनके संपर्क में ना जाए।

बाहर निकलते समय मास्क का इस्तेमाल करें जो हवा में मौजूद कड़ों और वायरस को फिल्टर करता है।

चीन सहित तमाम देशों के साथ – साथ अब भारत में भी कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने लगी है। 22 मार्च तक मरीजों की संख्या 250 के आंकड़े को पार कर चुकी है और जिन राज्यों में अब तक कोरोना से संक्रमित लोग नहीं थे उन राज्यों में भी इसकी शुरुआत हो चुकी है। भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों का आंकड़ा 13 मार्च को सिर्फ 89 लोगों का था, जबकि 14 मार्च को यह 96 पर पहुंच गया। 15 मार्च को 112 हो गया, 16 मार्च को है बढ़कर 124 हो गया। 17 मार्च को 140 और फिर 20 मार्च को इस आंकड़े ने 250 का नंबर पार कर लिया। वहीं इसके जानकारों की मानें तो भारत में इस आकड़े में जबरदस्त तेजी देखने को मिल सकती है क्योंकि जो देश इससे पीड़ित है उनकी भी ऐसी ही कुछ तस्वीर रही है कि पहले अलग – अलग शहरों में पीड़ित मिल रहे थे फिर अचानक से आकड़ों में विस्फोट सा हो गया और संक्रमित लोगों की संख्या एक दम से ऊपर चली गयी।

उधर कोरोना के बढ़ते हालात को देखते हुए देश के कई राज्यों में लॉक डाउन की घोषणा कर दी गयी है, जहां इस दौरान हॉस्पिटल, मेडिकल स्टोर, खाने पीने की दुकानें और दूध की दुकानों को छोड़कर सब कुछ बंद करने के आदेश जारी कर दिए गए हैं। इससे पहले सरकार ने शॉपिंग मॉल, थिएटर, स्विमिंग पूल और जिम सहित उन सभी बाजारों को बंद कर दिया था जहां पर भीड़ इकट्ठा हो सकती है और कई राज्यों ने धारा 144 भी लागू कर दिया था।

वहीं सरकार की तरफ से एहतियात के तौर पर जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए लोगों से अपील की है कि वह परेशान ना हो, सरकार पूरी तरह से मदद करने के लिए तैयार है। पीएम मोदी ने सभी से सावधानी से रहने की अपील की है और कम से कम घरों से निकलने के लिए कहा है। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में सभी से 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की। जिसमे कहा गया कि इस दौरान 22 मार्च दिन रविवार को सुबह 7:00 बजे से लेकर रात 9:00 बजे तक कोई भी अपने घरों से नहीं निकले। इस दिन सिर्फ वही लोग बाहर जा सकते थे। जो इस संकट की घड़ी में दूसरों की मदद कर रहे हैं जिसमें पुलिस, मीडियाकर्मी, अस्पताल कर्मचारी, एयरलाइंस कर्मचारी और सफाई कर्मचारी शामिल थे। मोदी ने ऐसे लोगों के लिए जो इस मुश्किल घड़ी में भी दूसरों की मदद के लिए काम कर रहे हैं उनके लिए 22 मार्च रविवार शाम 5:00 बजे 5 मिनट के लिए धन्यवाद करने का समय मांगा।  इसके लिए स्थानीय प्रशासन से भी सहयोग की अपील की गयी।

 

आपकी प्रतिक्रिया...