सुष्मिता देव ने दिया पार्टी से इस्तीफा, कपिल सिब्बल ने सोनिया पर लगाया आरोप

कांग्रेस के पिछले कुछ सालों का इतिहास उठाकर देखें तो पार्टी से युवा नेता और कार्यकर्ता दूरी बना रहे है। सभी राज्यों में सीनियर नेता और युवा नेताओं के बीच एक दीवार नजर आती है जो खुद कांग्रेस ने तैयार की है और यही वजह है कि पार्टी दो भागों में बंटी हुई है। मध्य प्रदेश और राजस्थान उसके सटीक उदाहरण है लेकिन अब असम से भी ऐसी खबरें आने लगी है कि वहां भी कांग्रेस पार्टी में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है।  
 
 असम की पूर्व महिला सांसद सुष्मिता देव ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। सुष्मिता देव ऑल इंडिया महिला कांग्रेस की अध्यक्ष भी थी और कांग्रेस पार्टी से करीब 30 सालों से अधिक समय से जुड़ी थी। इनके पिता संतोष मोहन देव और माता बिथिका देव भी कांग्रेस पार्टी से विधायक और सांसद रह चुके थे। सुष्मिता देव का कांग्रेस से पारिवारिक नाता था जो अब टूट गया। सुष्मिता देव ने अपना इस्तीफा सोनिया गांधी को भेज दिया है।  
 

सुष्मिता देव के इस्तीफे के बाद कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने एक कटाक्ष वाला ट्वीट भी किया और कहा कि पार्टी आंख बंद कर के आगे बढ़ रही है आखिर सुष्मिता देव जो करीब तीन दशकों के पार्टी से जुड़ी थी उन्होने पार्टी क्यों छोड़ा? सुष्मिता देव के इस्तीफे पर कपिल सिब्बल ने कहा कि पार्टी के युवा नेता इस्तीफा देते जा रहे है और पार्टी इसके लिए हम बूढ़े लोगों को जिम्मेदार ठहरा रही है। 
 
सुष्मिता देव ने इस्तीफे के बाद अपने ट्विटर हैंडल पर अपने सभी पद और पार्टी के आगे पूर्व शब्द लगा दिया। इससे पहले 11 अगस्त को उन्होने राहुल गांधी से एक कार्यक्रम के दौरान मुलाकात की थी और राहुल गांधी का एक वीडियो भी शेयर किया था। अभी तक इस्तीफे की असली वजह का कुछ पता नही चला है लेकिन ऐसी खबर है कि सुष्मिता अब सेवा का एक नया अध्याय शुरू करने जा रही है। इससे पहले असम विधानसभा चुनाव में सुष्मिता की नाराजगी लोगों के सामने आयी थी लेकिन बाद में पार्टी की तरफ से उन्हे मना लिया गया था।  

आपकी प्रतिक्रिया...