महिला कांस्टेबल ने पाकिस्तानी ड्रोन पर बरसाए 18 राउंड फायर

पाकिस्तान की तरफ से आतंकी गतिविधियां कम होने का नाम नहीं ले रही है। हर मोर्चे पर भारत से शिकस्त खाने के बाद भी पाकिस्तान अभी सुधरने के लिए तैयार नहीं हो रहा है। भारतीय सेना की चौकसी के बाद अब पाकिस्तान के आतंकियों का भारत में घुसपैठ करना भी मुश्किल हो गया है इसलिए अब आतंकी ड्रोन का सहारा ले रहे है और उसके माध्यम से हथियार, पैसे और ड्रग्स भारत तक पहुंचा रहे हैं। मंगलवार रात को पाकिस्तान की इस तरह की एक साजिश को नाकाम किया गया जब पाकिस्तानी सीमा की तरफ से आ रहे ड्रोन को सीमा सुरक्षा बल की महिला टीम ने खदेड़ दिया। 
 
सेना से मिली जानकारी के मुताबिक मंगलवार देर रात पाकिस्तानी सीमा की तरफ से एक ड्रोन भारतीय सीमा में प्रवेश करने की कोशिश कर रहा था लेकिन सीमा सुरक्षा बल की महिला टीम ने ड्रोन पर फायरिंग शुरु कर दी जिससे उसे वापस जाना पड़ा। महिला कांस्टेबल प्रियंका और पुष्पा ने ड्रोन पर कुल 18 राउंड फायरिंग की जिसके बाद ड्रोन वापस पाकिस्तानी सीमा में लौट गया। घटना के बाद बीएसएफ के उप महानिरीक्षक प्रभाकर जोशी ने बताया कि बीओपी बोहड़ वडाला की तरफ से ड्रोन ने भारतीय सीमा में प्रवेश करने की कोशिश की थी लेकिन वह सफल नहीं हुआ। ड्रोन पर फायरिंग के बाद कमांडेंट प्रदीप कुमार और बीएसएफ जवानों ने इलाके की छानबीन शुरु कर दी है हालांकि अभी तक सेना को कोई सुराग हाथ नहीं लगा है। 
 
पाकिस्तान की तरफ से यह कोशिश रहती है कि आतंकियों के द्वारा वह भारत में अशांति फैलाता रहे जिससे ना सिर्फ सरकार का काम काज बिगड़े बल्कि लोग भी सरकार के खिलाफ हों और भारत जिस विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है उसे रोका जा सके। पाकिस्तान के पास खुद के विकास के लिए पैसे नहीं है लेकिन वह भारत में आतंकी गतिविधियों के लिए फंड करता रहता है। कश्मीर के तमाम संगठन पाकिस्तानी पैसे पर ही बढ़ रहे हैं और देश में अशांति फैलाने का काम कर रहे हैं। 

आपकी प्रतिक्रिया...