नये साल की खुशियों पर भारी पड़ता ओमिक्रॉन!

कोरोना जिस तेजी से रफ्तार पकड़ रहा है वह सभी के लिए चिंता का विषय बनता जा रहा है। पिछले 24 घंटे में साढ़े 6 हजार से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं जबकि 7 हजार से अधिक लोग इससे ठीक हो कर घर आ गये और 315 लोगों की मौत हो गयी इसी के साथ अब तक कुल संक्रमित लोगों की संख्या करीब 76 हजार के पास पहुंच चुकी है हालांकि रिकवरी रेट अच्छी होने की वजह से थोड़ी राहत हैं। कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से सभी को फिर से लॉकडाउन का डर सताने लगा है। कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू की शुरुआत भी हो चुकी है। दरअसल आने वाले समय में नये साल को लेकर लोग बड़ी संख्या में बाहर निकलने के प्लान में है ऐसे में कोरोना संक्रमण बढ़ने की उम्मीद बहुत ही अधिक है।

कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन के करीब 500 मरीज पूरे देश में पाये गये है। ओमिक्रॉन का असर अभी तक 19 राज्यों में देखा गया है जिसमें सबसे अधिक संख्या दिल्ली और मुंबई में पायी गयी है जबकि केरल, गुजरात, राजस्थान, तेलंगाना और तमिलनाडु सहित बाकी राज्यों में भी यह तेजी से पैर पसार रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से ओमिक्रॉन को लेकर समय समय पर बयान जारी किया जाता है और इसके प्रभाव व लक्षण को लेकर जानकारी दी जाती है। ओमिक्रॉन को लेकर मिली जानकारी के अनुसार यह सामान्य वायरस है लेकिन सभी को कोविड की बातों को ध्यान में रखना होगा जैसे मास्क, सेनेटाइजर, सोशल डिस्टेंसिंग और बिना काम के बाहर ना जाना।

नाइट कर्फ्यू 

ओमिक्रॉन के बढ़ते खतरे की वजह से देश के कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है जिससे देर रात तक चलने वाली पार्टियां और रेस्टोरेंट को बंद किया जा सके। दिल्ली, हरियाणा और गुजरात में रात 11 से सुबह के 5 बजे तक के लिए नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है जबकि असम में रात 11.30 से सुबह 6 बजे तक के लिए यह कर्फ्यू जारी रहेगा। महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, उड़ीसा और छत्तीसगढ़ में रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक के लिए पाबंदी लगा दी गयी है। नाइट कर्फ्यू के द्वारा कुछ हद तक संक्रमण पर रोक लगाई जा सकती है और रात को इकट्ठा हो रही भीड़ को कम किया जा सकता है।

फ्रांस में संक्रमण

भारत के साथ साथ विदेशों में भी ओमिक्रॉन का खतरा तेजी से बढ़ रहा है। फ्रांस में पिछले 24 घंटे में 1 लाख से अधिक लोग संक्रमित हुए है जिसमें से 84 लोगों की मौत भी हो गयी। ओमिक्रॉन का यह आंकड़ा पिछले तीन दिनों से ऐसा ही आ रहा है जिससे फ्रांस की सरकार और लोग दोनों ही चिंता में है। नये संक्रमण में वह लोग ज्यादा शामिल है जिन्होंने अभी तक वैक्सीन की कोई भी डोज नहीं ली है। तेजी से बढ़ते संक्रमण की वजह से एक बार फिर से लॉकडाउन की आहट सुनाई देने लगी है और लोगों के मन में कोरोना का पहला फेज नजर आने लगा है।

ब्रिटेन में संक्रमण

एक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना केस में करीब 48 फीसदी की बढ़ोत्तरी दर्ज की गयी है और करीब हर 20वां व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है। ब्रिटेन में हर दिन 1 लाख से अधिक संक्रमित लोग पाये जा रहे है और एक सप्ताह से चलता आ रहा है जिसमें अभी तक 137 लोगों की मौत हो चुकी है। बिना वैक्सीन वाले लोगों में यह संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इस संक्रमण की वजह से अब क्रिसमस और नये साल की तैयारियों पर रोक लगा दी गयी है और ज्यादातर कार्यक्रमों को निरस्त कर दिया गया है।

 

आपकी प्रतिक्रिया...