26 जनवरी को हो सकता है आतंकी हमला, निशाने पर पीएम मोदी!

भारत पर आतंकी हमले की साजिश बहुत पहले से होती आ रही है और पाकिस्तान समर्थित आतंकी इसके लिए हमेशा से प्रयास भी करते रहते है। भारत पर कई आतंकी हमले भी हुए हैं जिसमें सैकड़ो लोगों ने अपनी जान गवांई है लेकिन वर्ष 2014 से आतंकी हमलों पर पूरी तरह से रोक लग गयी है मोदी सरकार की सूझबूझ से आतंकियों पर पूरी तरह से नकेल कस दी गयी है जिससे वह आतंकी हमले को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं। कश्मीर के रास्ते देश में प्रवेश करने वाले आतंकियों पर सेना ने काबू कर लिया है। घाटी से धारा 370 खत्म होने के बाद सेना ने आतंकियों को खत्म करने का ऑपरेशन चलाया जिससे घाटी के कई इलाके पूरी तरह से आतंकियों से खाली हो चुके है।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कड़े फैसलों की वजह से आतंकी गतिविधियों पर पूरी तरह से रोक लग चुकी है ऐसे में जाहिर है कि आतंकी पीएम को अपना सबसे बड़ा दुश्मन मान रहे होंगे। शायद इसलिए ही बार बार हमले की साजिश रची जा रही है लेकिन वह नाकाम हो रहे हैं लेकिन अब गणतंत्र दिवस के मौके पर फिर से हमले की सूचना मिली है। 26 जनवरी 2022 को गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमले की साजिश रच रहे है। देश की खूफिया एजेंसियों ने इसकी जानकारी सुरक्षा एजेंसियों को दे दी है लेकिन इस जानकारी के बाद सुरक्षा एजेंसियों की चिंता और बढ़ गयी है क्योंकि किसी भी हाल में 26 जनवरी का कोई भी कार्यक्रम निरस्त नहीं किया जा सकता और गणतंत्र दिवस पर वीवीआईपी के अलावा आम जनता भी होती है ऐसे में सुरक्षा व्यवस्था को मुस्तैद रखना एक बड़ी जिम्मेदार है।

जानकारी के मुताबिक जिस आतंकी हमले की सूचना मिली है उसके मुताबिक पीएम मोदी सहित कई विशेष लोगों पर जान का खतरा है और उन्हें ही निशाना बनाया जा सकता है। एजेंसी के मुताबिक खलिस्तान लिबरेशन फोर्स की तरफ से आतंकी हमले को अंजाम दिया जा सकता है और इसे पाक एजंसी आईएसआई (ISI) का समर्थन मिला हुआ है। आईबी (IB) से मिली जानकारी के मुताबिक लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मुहम्मद, हरकत-उल-मुजाहिद्दीन सहित पाकिस्तान व अफगानिस्तान में सक्रिय आतंकियों द्वारा इस घटना को अंजाम दिया जा सकता है। इस हमले में ड्रोन अटैक को भी संभव बताया जा रहा है। पाकिस्तान के आतंकी पिछले कई सालों से हमले की फिराक में घूम रहे हैं लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिल रही है। भारत सरकार की तरफ से हुए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से आतंकी बदले की भावना से भरे पड़े होंगे ऐसे में हमले की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।

 

आपकी प्रतिक्रिया...