मालाड़ अग्निपिड़ित लोगों की मदद मे उतरे गौरीशंकर चौबे

मालाड़ कुरार विलेज मे आग से प्रभावित लोगों की मदद मे जुटी द्वारिकामाई चैरीटी, मुंबई मलाड के कुरारगांव क्षेत्र में बीते दिनों भीषण आग लगने से एक 12 वर्षीय बच्चे की दर्दनाक मौत हो गयी थी। इस आगजनी में तमाम झुग्गियां अचानक भीषण आग के चपेट में जलकर खाक हो गयी। आग लगने की जानकारी मिलते ही कई सामाजिक संगठन, संस्था व राजनीतिक दलों के नेताओं द्वारा आर्थिक मदत के लिए अपना हाथ आगे बढ़ाया और सह्रदयता की मिसाल पेश की हैं।

इसी क्रम में मुंबई सहित देश भर में अपनी सामाजिक सेवाएं प्रदान कर रही सामाजिक संस्था द्वारिकमाई चैरिटी की टीम और प्रख्यात समाजसेवी व संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष गौरीशंकर चौबे स्वयं आगे आकर घटनास्थल पर पहुंचकर हालात का जायजा लिया और पीड़ितों के जरूरतों के अनुसार तत्काल सहायता प्रदान करवाई, जिससे प्रभावितों ने राहत की सांस ली।

स्थानीय नागरिकों के पुनर्वसन हेतु संस्था पदाधिकारी की मिटिंग मे यह तय हुआ कि ऐसी आवश्यक वस्तुएं उन्हें प्रदान की जाऐ कि जो उनके काम मे आ सके, ऐसा न हो कि कोई और संस्था की ओर से जो कुछ वस्तुएं दी गयी हो और पुनः वहीं वस्तु अपनी संस्था भी वितरित करे तो फिर कोई मतलब नहीं रह जाएगा। अतएव उपयोगी समस्त बिजली उपकरण जैसे पंखा, ट्यूबलाइट, बल्ब, इलेक्ट्रिक वायर स्विच बोर्ड इत्यादि की मदद कर उनकी सहायता आज दिनभर करते नजर आये। कुलमिलाकर लगभग 65 घरों तक अपनी सेवाएं पहुंचा चुके है।

बता दें कि जब से उस क्षेत्र मे आगजनी की दुर्घटना हुई है, तब से द्वारिकामाई टीम द्वारा अन्य कई तरह से जरूरतमंदो क रोजमर्रा की सामग्रियां वितरित की जा रही हैं। इस सहकार्य से वापस उन लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने के लिए प्रयासरत हैं जो इस भीषण आगजनी मे अपना सब कुछ खो चुके हैं।

संस्था अध्यक्ष गौरीशंकर चौबे ने बताया कि एक घर बसाने मे पूरी जिंदगी कम पड़ती हैं, ऐसे उन सभी लोगों के बुरे समय मे द्वारिकामाई चैरीटी हमेशा उनके साथ है और रहेगी।

Leave a Reply