हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

सत्ता गवाने के बाद भड़के कमलनाथ, ज्योतिरादित्य ने कहा आज जनता की जीत हुई

मध्य प्रदेश में चल रही सियासत का शुक्रवार को अंत हो गया राज्य के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राजभवन जाकर राज्यपाल लालजी टंडन को अपना इस्तीफा सौंपा और इसके साथ ही करीब 15 महीने पुरानी कमलनाथ सरकार भी गिर गई। इससे पहले कमलनाथ सरकार की तरफ से बार-बार यह दावा किया जा रहा था कि उनके पास बहुमत साबित करने के लिए विधायक हैं लेकिन उनका यह अनुमान गलत साबित हुआ और कमलनाथ अपनी सरकार बचाने में नाकामयाब साबित हुए।

ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के साथ ही यह तय हो गया था कि मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार गिरनी तय है क्योंकि सिंधिया के साथ विधायकों का एक दल कमलनाथ सरकार से बगावत कर चुका था ऐसे में विधायकों के नंबर कम होनी आम बात है। वहीं मध्य प्रदेश में सरकार के गिरते ही ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इस पर खुशी जाहिर की, सिंधिया ने ट्वीट कर कहा कि आज मध्य प्रदेश में जनता की जीत हुई है मेरा सदैव से मानना रहा है कि राजनीति जन सेवा का माध्यम होना चाहिए लेकिन मध्य प्रदेश की सरकार इस से भटक गई थी सच्चाई की फिर से विजय हुई है सत्यमेव जयते।

उधर सरकार गवाने आने के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाया जिसमें उन्होंने राज्यपाल को त्यागपत्र देने की बात कही, इसके साथ ही अपनी सरकार की उपलब्धियों को भी गिनाया, कमलनाथ ने मौजूदा केंद्र सरकार पर भी जमकर हमला बोला। कमलनाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश में जो भी परिवर्तन हो रहे हैं वह सब केंद्र सरकार की मनमानी का नतीजा है जबकि सरकार के मंत्रियों ने इसका जवाब देते हुए कहा कि यह उनकी खुद की गर्मी का नतीजा है जिससे उनकी ही पार्टी के नेता और विधायक उनसे दूर जा रहे हैं।

कुल मिलाकर मध्य प्रदेश के हालात बिगड़ चुके हैं वर्तमान कमलनाथ सरकार गिर चुकी है हालांकि कमलनाथ ने अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में अपने कामों की गिनती कराई लेकिन उनका कोई भी काम पूरा नजर नहीं आया, उन्होंने सरकार द्वारा शुरू किए गए कामों की गिनती गिनाई लेकिन उनमें कुछ ही काम थे जो अब तक पूरे हो चुके है बाकी सारे काम अधूरे पड़े हुए हैं जिसको अभी पूरा करने के लिए कमलनाथ सरकार और समय मांग रही थी।

मध्यप्रदेश में 15 साल बाद जैसे-तैसे सभी को मिलाकर कांग्रेस ने सरकार बनाई थी जो कि 15 महीने भी नहीं चल सकी, ऐसे में कांग्रेस पार्टी को सत्ता गंवाने का बड़ा दुख है और यही वजह है कि कांग्रेस के तमाम नेता केंद्र की मोदी सरकार पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। 

This Post Has 2 Comments

  1. Yeh congerss choro ki sarkar jane wali he thi.hardik shubhkamnaye cm shivraj singhji ko.

  2. काँग्रेस चोर हैं

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: