दो महीने बाद शुरु हुई हवाई सेवा, लेकिन कुछ राज्यों में अभी भी रोक जारी

  • सोमवार से घरेलू हवाई सेवाएं शुरु
  • दिल्ली से पुणे के लिए पहली फ्लाइट ने भरी उड़ान
  • मुबंई एयरपोर्ट के संचालन के लिए उद्धव सरकार हुई तैयार 
  • सभी एयरपोर्ट पर सुरक्षा व्यवस्था चाकचौबंद  
भारत में करीब दो महीने बाद हवाई सेवा की शुरुआत हो चुकी है सोमवार को पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश को छोड़ कर बाकी सभी राज्यों के लिए हवाई सेवा शुरु हो चुकी है। इससे पहले महाराष्ट्र भी हवाई सेवा को लेकर तैयार नहीं था लेकिन तमाम विचार विमर्श के बाद रविवार देर रात महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने इसके लिए हामी भर दी। हवाई सेवा को पूरी सुरक्षा व्यवास्था के साथ शुरु किया जा रहा है। वहीं लम्बे समय से बंद एयरपोर्ट पर भी लैंडिग और टेक ऑफ को लेकर भी कर्मचारी तैनात है क्योंकि काफी समय से एयरपोर्ट के बंद होने से एयरपोर्ट रनवे की हालत बिगड़ चुकी है। जानकारी के मुताबिक मुबंई और चेन्नई एयरपोर्ट पर सिर्फ 25-25 फ्लाइट्स के उतरे की इजाजत राज्य सरकार ने दी है। बैंगलूरू में 215, लखनऊ में 3 और जयपुर में 20 विमानों के उतरने की इजाजत मिली हुई है।
पुणे के लिए पहली हवाई उड़ान
25 मई सोमवार की सुबहर 4.45 बजे दिल्ली एयरपोर्ट से महाराष्ट्र के पुणे के लिए पहली फ्लाइट रवाना हुई तो दूसरी फ्लाइट 6.50 को भूनेश्वर के लिए उड़ान भरी। वहीं मुंबई एयरपोर्ट से सुबह 6.45 बजे पहली हवाई सेवा बिहार की राजधानी पटना के  लिए शुरु की गयी। सोमवार आधी रात के बाद से ही दिल्ली एयरपोर्ट पर यात्रियों का जमावड़ा लगना शुरु हो चुका था लोगों में इस यात्रा को लेकर एक अलग तरह का उत्साह देखने को मिल रहा था। सभी लोग अपने घरों तक जाने के लिए कितने बेताब थे यह उनके चेहरे पर नजर आ रहा था महामारी की मजबूरी ने उन्हे एक कमरे में कैद होने के लिए विवश कर दिया था।
 
हवाई यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन
हवाई यात्रा को लेकर उड्डयन मंत्रालय की तरफ से पहले कुछ गाइड लाइन जारी की गयी थी लेकिन राज्यों की असमहति के बाद रविवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से फिर से नई गाइडलाइन जारी की गयी। नई गाइडलाइन के मुताबिक अब हवाई यात्रा करने वालों को भी सेल्फ आइसोलेशन में रहना होगा। अगर हवाई यात्रा के बाद किसी में संक्रमण के लक्षण नजर आते है तो उसे टेस्टिंग के लिए जिला चिकित्सालय ले जाया जा सकता है। स्वास्थ्य मंत्रालय की नई गाइडलाइन में राज्य सरकारों को यह अधिकार दिया गया है कि वह अपनी सुविधानुसार राज्य के लिए दिशा निर्देश बना सकते है जिसे हर यात्री को मानना होगा।
 
हवाई यात्रा के लिए उड्डयन मंत्रालय के निर्देश
  • हवाई यात्रा से कम से कम 2 घंटे पहले पहुंचे
  • हवाई यात्रा के 4 घंटे पहले एयरपोर्ट पर एंट्री नहीं मिलेगी
  • वेब चेक इन के बाद ही अंदर जाने की होगी इजाजत 
  • आरोग्य सेतु एप फोन में होगा जरुरी
  • सिर्फ एक चेक इन बैग और एक केबिन बैग की ही इजाजत 
  • यात्री को बैग के लिए नहीं मिलेगी ट्रॉली   
  • यात्रा के दौरान नहीं मिलेगा खाना

आपकी प्रतिक्रिया...