राहुल गांधी ने कहा, सरकार इजाजत दे तो मजदूरों का सामान लेकर पैदल चलूं

  • सरकार इजाजत दे तो मजदूरों का सामान लेकर पैदल चलूं
  • राहुल गांधी ने मजदूरों से मिलकर उनका समय खराब किया- सीतारमण
  • मजदूरों का दर्द बांटना अगर ड्रामा है तो मैं करुंगा- राहुल
  • मोदी भी मानेंगे लॉक डाउन एक गल्ती थी
देश में जारी चौथे चरण के लॉक डाउन को लेकर अब कांग्रेस केंद्र सरकार को घेरने में लगी हुई है। कांग्रेस हर हाल में साबित करना चाहती हैं कि सरकार का लॉक डाउन का फैसला पूरी तरह से विफल रहा। मंगलवार को राहुल गांधी ने एक वीडियो कांफ्रेंस के दौरान इस बात का जिक्र भी किया और कहा की सरकार का लॉक डाउन का फैसला पूरी तरह से विफल सबित हो रहा है हालांकि राहुल गांधी ने बहुत पहले लॉक डाउन को लेकर एक बयान दिया था जिसमें उन्होंने कहा था की लॉक डाउन लगाने में देरी की गई जबकि अब राहुल गांधी का यह दावा है कि लॉक डाउन पूरी तरह से विफल रहा और सरकार ने बिना किसी रणनीति के इसे लोगों पर थोप दिया।
कांग्रेस पार्टी के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी कई ट्वीट किए गए, जिसमें सरकार के फैसलों पर सवाल उठाया गया और लॉक डाउन को भी विफल बताया गया।

कांग्रेस की तरफ से यह दावा किया गया कि यह बात प्रधानमंत्री भी मानेंगे कि लॉक डाउन फेल रहा लेकिन अब पीएम को यह जवाब देना होगा कि उनकी आगे की रणनीति क्या है।

हाल ही में राहुल गांधी का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था जिसमें राहुल गांधी कुछ मजदूरों से सड़क किनारे बात करके दिखाई दे रहे थे। कांग्रेस ने इस वीडियो के माध्यम से राहुल गांधी को मजदूरों का हमदर्द बताने की कोशिश की थी लेकिन बीजेपी की तरफ से इस वीडियो का मजाक बना दिया गया, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस पर चुटकी लेते हुए कहा कि राहुल गांधी ने सिर्फ मजदूरों का समय बर्बाद किया अगर उन्हें इतनी ही फिक्र होती तो वह मजदूरों का सामान उठाकर उनकी मदद करते।

राहुल गांधी की तरफ से ट्वीट कर निर्मला सीतारमण के इस बयान का जवाब दिया गया। राहुल गांधी ने लिखा कि सरकार अगर इजाजत दे तो वह यूपी तक पैदल चले जाएंगे और जितने भी मजदूर होंगे उनकी मदद करेंगे।

देश में जहां महामारी से आम जनता पूरी तरह से परेशान है लोगों का घर, नौकरी, उद्योग और परिवार बिखर रहा है। देश वह स्थिति पैदा हो चुकी है जिसका किसी ने स्मरण भी नहीं किया था। लेकिन ऐसी बुरी स्थिति में भी राजनीतिक बयानबाजी जारी है, नेता एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं। कांग्रेस लगातार केंद्र सरकार के फैसलों पर सवाल उठा रही है जबकि जिन राज्यों में कांग्रेस की सत्ता है उस पर जवाब देने से बच रही है।

This Post Has 3 Comments

  1. K.P.MISHRA

    लाकडाउन के समय राहुल जी ने पब्लिक के मनोरंजन का दायित्व वापस सम्हाल लिया है। आभार।

  2. Anup Himmatramka

    ये तो वही बात हो गई नाच ना जाने आँगन टेढ़ा पप्पू भाई इजाज़त की क्या ज़रूरत है कम से कम ५-१० km चलिए तो सही नानी याद आ जाएगी आपकी सरकार को ७० सालों मे मज़दूर दिखाई नहीं दिए इनका दर्द भी दिखा तो BJP के राज में।
    मज़दूरों से व बात करके आपको जानकारी मिलती है अब यहीं से आपको राजनीति का ज्ञान प्राप्त होगा।

  3. बालेश तिवारी

    राहुल गांधी हो या पूरी कांग्रेस यह लोग पूरी तरह से फेल है, अब कुछ नहीं तो झुती ढाफ्ली पिट रहे हैं, जरा सोचो यदि लॉकडाउन नहीं होता तो अब तक इस देश में करोड़ों लोगों को संक्रमण हो जाता , इसलिए जो भी इनका नाम पप्पू रक्खा है वह सही ही है, मोदी जी ने अच्छा काम किया कोरोावायरस से लडने में लेकिन अब इनकी सरकार महाराष्ट्र में फेल हो रहा है इसलिए अब ये लोग जनता में यह भ्रम फैलाना चाहते हैं

आपकी प्रतिक्रिया...