नर सेवा के लिए समर्पित नर नारायण सेवा

सात वर्ष पूर्व हमने ‘नर नारायण सेवा संस्थान’ की स्थापना की थी। इस संस्थान द्वारा हम विशेषकर मेडिकल क्षेत्र से जुड़े सेवा कार्य करते है। सोनोग्राफी, डेन्टल क्लिनिक आदि सेवा कार्यो में जुटे हुए है। सबसे सस्ते दाम में हम मरीजों को सुविधा प्रदान करते है। जब भी कोई आपदा आती है उस समय भी हम आवश्कतानुसार सेवा कार्य करते है।जैसे अभी कोरोना महामारी के दौरान बीते 40 दिनों से हम सुबह शाम लोगों को शुद्ध सात्विक भोजन प्रदान करने का काम कर रहे है। हमारे द्वारा बांटे जा रहे भोजन को लोग बहुत पसंद करते है और बड़े चाव से खाते है। इसके आलावा जो मरीज मेडिकल का कोई चार्ज देने में असमर्थ है ऐसे लोगों को हम मुफ्त में सुविधा प्रदान कर रहे है। इस संस्थान में 3 ट्रस्टी और 18 सदस्य है। मैं इस संस्थान का चैयरमैन और ट्रस्टी भी हूँ। रमाकांत भगेड़िया जो सीए है वह इस संस्थान के कोषाध्यक्ष है। इसके आलावा डॉ. विनोद मिश्रा ट्रस्टी है। सुशिल राजगढ़िया भी हमारे संस्था के ट्रस्टी है।स्वास्थ्य वर्धक आहार विहार से हम कैसे निरोगी रह सकते है इस विषय पर जन जागरूता के लिए हम समय – समय पर कार्यक्रमों का आयोजन करते रहते है। मजदूरों के पलायन की समस्या को देखते हुए हम आरएसएस से जुड़े हुए सुशिल जाजू, वीरेंद्र याग्निक जी से विचार विमर्श कर रहे है कि कैसे मजदूरों को राहत पहुंचाई जाये। अभी तक लोगों को जो भोजन की सबसे बड़ी समस्या थी हमने उस क्षेत्र में काम किया है और आने वाले समय में मजदूरों की जरूरतों को ध्यान में रखकर सेवा कार्य करने पर विचार कर रहे है। नर सेवा ही नारायण सेवा के सूत्र को धारण कर हम नर नारायण की सेवा में जुटे हुए है। दहिसर चेक नाका और दामूनगर के आसपास की झोपड़पट्टियों में हम रोजाना 2500 – 3000 फूड पैकेट बांट रहे है और सैकड़ो की संख्या में हम राशन किट जरुरतमंद परिवारों को वितरित कर रहे है।

आपकी प्रतिक्रिया...