कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 लाख के करीब, 24 घंंटे में दिखी रिकॉर्ड तेजी

  • कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 लाख के करीब
  • 24 घंंटे में रिकॉर्ड 8 हजार के अधिक लोग संक्रमित
  • महाराष्ट्र में 67 हजार से अधिक लोग संक्रमित
  • दिल्ली में बिगड़ सकते है हालात 

सरकार के द्वारा किए गए तमाम उपायों के बाद भी कोरोना वायरस का संक्रमण रुकने का नाम नहीं ले रहा है। पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या में रिकॉर्ड बढ़ोतरी देखने को मिली है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 8392 लोग संक्रमित पाए गए हैं जबकि 230 मरीजों की मौत हो चुकी है। यह आंकड़ा अब तक का सबसे बड़ा संक्रमित करने वाला आंकड़ा है जबकि इससे पहले 6 से 7 हजार का आंकड़ा सरकार पेश कर रही थी।
 
2 लाख के करीब है भारत
स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पूरे देश में 1 लाख 90 हजार 535 लोग इस महामारी की चपेट में आ चुके हैं जबकि 5394 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है। वहीं डॉक्टरों की कड़ी मेहनत के बाद 91819 लोग सही सलामत अपने घर भी जा चुके हैं लेकिन लॉक डाउन के चौथे चरण के बाद से देश में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। 1 जून से लॉक डाउन का पांचवा चरण शुरू हो चुका है और सरकार ने इस लॉक डाउन के तहत लोगों को बाहर निकलने की करीब-करीब पूरी छूट दे दी है जिसके बाद अब संक्रमण के बढ़ने की उम्मीद और ज्यादा हो चुकी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी इस बात को माना है कि लॉक डाउन के पांचवें चरण में संक्रमण बढ़ सकता है इसलिए सभी को पूरी सावधानी से ही बाहर निकलना है।
महाराष्ट्र में बढ़ता संक्रमण
संक्रमण से बुरी तरह से जूझ रहा महाराष्ट्र अब भी पहले स्थान पर है। राज्य में अब तक 67 हजार 655 लोग संक्रमित हो चुके हैं। 2 हजार 286 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 29 हजार 329 लोग इलाज के बाद स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं लेकिन हाल ही में सोशल मीडिया पर कई ऐसे वीडियो वायरल हो रहे थे जो महाराष्ट्र के स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल खड़े करते हैं। मुंबई के कई नामचीन हॉस्पिटल में कोरोना संक्रमित लोगों की डेड बॉडी खुले में रखी गई थी, कुछ जगहों पर हॉस्पिटल में डेड बॉडी बेड पर पड़ी थी और डॉक्टर को इस बात की जानकारी भी नहीं थी कि कोरोना के मरीज की मौत हो चुकी है। हालांकि इस पर राज्य सरकार और हॉस्पिटल की तरफ से जवाब दिया गया लेकिन वह संतोषजनक नहीं था।
 
बिगड़ रही राजधानी की हालत
राजधानी दिल्ली की बात करें तो वहां पर भी पिछले कुछ समय में संक्रमण के केस तेजी से बढ़े हैं जिसे केजरीवाल सरकार ने भी माना है। ताजा आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में कुल 19 हजार 844 लोग इस महामारी के संक्रमण में आ चुके हैं जिसमें से करीब 8 हजार 478 लोगों को ठीक किया जा चुका है और 473 लोगों की मौत हो चुकी है। मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा की राजधानी में तेजी से संक्रमण फैल रहा है लेकिन इसे किसी को घबराने की जरूरत नहीं है। दिल्ली के ही रहने वाले एक परिवार ने बताया कि ज्यादातर लोगों को घर में ही क्वॉरेंटाइन किया जा रहा है और डॉक्टर उन्हें घर पर ही दवा और इलाज दे रहे हैं। सरकार लोगों को हॉस्पिटल नहीं ले जा रही है इसके साथ ही सरकारी आंकड़ों को वास्तविकता से परे बताया।

आपकी प्रतिक्रिया...