8 जून से शुरु हो रहा अनलॉक 2.0, धार्मिक स्थल व मॉल में जाने की होगी परमिशन

  • 8 जून से शुरु हो रहा अनलॉक 2.0
  • सोमवार से धार्मिक स्थल और शॉपिंग मॉल खुले
  • कड़े नियमों के साथ होगें दर्शन और ख़रीददारी
  • वैष्णो देवी मंदिर में अब भी नहीं होंगे दर्शन 
देश में लॉक डाउन का पांचवा चरण चल रहा है लेकिन सरकार की तरफ से लोगों को बाहर निकलने की सहूलियत भी दी जा रही है। सरकार अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने पर भी कड़ी मेहनत कर रही है इसके लिए दुकानों और बाजारों को खोलना पड़ रहा है लेकिन सरकार ने सभी के सोशल डिस्टेंसिंग करने के लिए भी कहा है। अब बाजार खुले और भीड़ ना हो ऐसा होना थोड़ा असंभव है सरकार चाहती है कि बाजार खुले और लोग बिना भीड़ के सामान खरीदे जबकि लोगों की सालों से आदत भीड़ में जाने की है वह मात्र कुछ महीने में कैसे खत्म हो सकती है।
 
धार्मिक स्थल व शॉपिंग मॉल खुले
लॉक डाउन के पांचवें चरण के दूसरे अनलॉक के दौरान अब धार्मिक स्थल और शॉपिंग मॉल को खोल दिया गया है। सोमवार से देश के ज्यादातर धार्मिक स्थल खोल दिये गये है और लोग दर्शन के लिए भी पहुचने लगे है। हालांकि इस बार दर्शन करना हर बार से बिल्कुल अलग होगा। भक्त ना तो भगवान को तिलक लगा सकेंगे और ना ही फूल माला चढ़ा सकेगें। भगवान के दर्शन भी दूर से करना होगा। विश्व विख्यात वैष्णो देवी मंदिर को भी अभी बंद करने का फैसला लिया गया है क्योंकि यहां पर लाखों की संख्या में लोग इकट्ठा होते है ऐसे में इसे खोलना संक्रमण को बुलावा देने जैसा होगा।
राज्य सरकार लेगी अंतिम फैसला
शॉपिंग मॉल भी सोमवार से खुल रहा है और कड़े नियमों के साथ सभी को ख़रीददारी करनी होगी। शॉपिंग मॉल में जाने के दौरान सभी को मास्क और हाथ में दस्ताना पहनना जरूरी होगा और बाहर निकलने के दौरान आरोग्य सेतु अप भी जरूरी होगा। केंद्र ने आदेश जारी करते हुए कहा था कि 8 जून से देश के सभी धार्मिक स्थलों को खोला जायेगा और शॉपिंग मॉल को भी फिर से शुरु किया जायेगा लेकिन राज्य सरकारों को इस पर अंतिम फैसला लेना होगा। अगर कोई राज्य सरकार चाहे तो वह संक्रमण को देखते हुए इन फ़ैसलों पर रोक लगा सकती है। देश में संक्रमण के हालात हर राज्य में अलग अलग स्तर पर है ऐसे में सभी को केंद्र ने फैसले के लिए स्वतंत्र रखा है।
महाराष्ट्र में नहीं खुलेंगे मंदिर और मॉल
कोरोना महामारी का प्रकोप झेल रहा महाराष्ट्र अब भी संक्रमण की संख्या में पहले नंबर पर बना हुआ है। केंद्र सरकार के धार्मिक स्थलों के खोलने के फैसले पर उद्धव सरकार ने फिर से विचार करते हुए इसे अभी बंद करने का फैसला लिया है। महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि राज्य के हालात गंभीर है ऐसे में धार्मिक स्थलों को खोलना ठीक नहीं होगा। उद्धव सरकार ने शॉपिंग मॉल को भी बंद करने का फैसला लिया है।

आपकी प्रतिक्रिया...