भारतीय कूटनीति में फंसा चीन, 2.5 किमी पीछे हटी चीनी सेना

  • भारतीय कूटनीति में फंसा चीन 
  • चीन की सेना 2.5 किमी पीछे हटी
  • भारत-चीन सीमा विवाद पर पीछे हटा चीन 
  • चीन ने खाली किए कई इलाके  
 
भारत का दबाव चीनी सेना हटी पीछे
भारत और चीन के बीच जारी सीमा विवाद अब धीरे धीरे खत्म होता नजर आ रहा है। भारत और चीन के बीच जारी विवाद को लेकर कई बैठकें भी हो चुकी है लेकिन आखिरी बार सेना के उच्च अधिकारियों की बैठक के बाद से अब मामला सुलझा हुआ दिख रहा है। जानकारी के मुताबिक चीन की सेना 2.5 किमी पीछे हट गयी है। इससे पहले भी चीनी सेना एक बार पीछ हट चुकी है। चीन की तरफ से उठाये गये इस कदम के बाद से यह उम्मीद की जा रही है कि अब सीमा विवाद फिलहाल में सुलझ गया है। चीन के पीछे हटने के बाद से यह भी साफ हो गया कि भारत अपनी कूटनीति में सफल रहा है।
 
चीन को मिला मुहतोड़ जवाब
चीन की बहुत पहले से ही यह आदत रही है कि वह भारत को आंख दिखाने की कोशिश करता रहता है लेकिन इस बार उसका यह पैतरा काम नहीं आया और भारत ने भी उसे मुहतोड़ जवाब दिया जिसके बाद चीन को कई स्थानों को खाली कर पीछे हटना पड़ा है। जानकारी के मुताबिक चीन की सेना गलवन क्षेत्र पेट्रोलिंग प्वाइंट 15 और हॉट स्प्रिंग से करीब 2.5 किमी पीछे चली गयी है। बैठक के बाद भारतीय सैनिको को भी पीछे हटाया गया है। लेकिन ऐसा कम होता है कि चीन किसी की सहमति के बाद पीछे हटा हो।
 
हर तरफ से घिरा चीन
चीन और भारत के बीच सीमा विवाद काफी वर्ष पुराना है लेकिन हर बार चीन की तरफ से जबरदस्ती की जाती थी लेकिन इस बार बात अलग हो गयी। भारत ने अपने मित्र रुस और अमेरिका को भरोसे में लेकर चीन पर दबाव बना रहा है और भारत इसमें कामयाब भी हुआ। चीन हमेशा से ही दूसरे के क्षेत्र में घुसने की कोशिश करता रहा है इसलिए चीन किसी पर यह भी आरोप नहीं लगा सकता है कि कोई दूसरा देश उसकी सीमा में प्रवेश कर रहा है। भारत चीन सीमा के बीच विकास भी तेजी से हो रहा है जहां पहले ट्टू की सवारी होती थी वहां अब सड़क और रेलगाड़ी की सुविधा पहुंच रही है।

This Post Has 2 Comments

  1. अविनाश फाटक, बीकानेर. (राजस्थान)

    बधाई एवं मनःपूर्वक अभिनंदन. ऐसे निर्भीक एवं कुशल नेतृत्वपर हमें गर्व है.
    कृपया इस सुखद समाचार की एक प्रति,श्रीमान राहुल गांधीजी को प्रेषित करें,ताकि वे दूसरा कोई विषय सोच सकें.

  2. Diwakar Laldas

    Hamare PM, Sena, Ajit Dobhal ji ko Bahut Bahut Dhanyawad.

आपकी प्रतिक्रिया...