अमित शाह की दिल्लीवासियों को बड़ी राहत, अब कोरोना टेस्ट के लिए देने होंगे सिर्फ 2400 रुपये

  • कोरोना टेस्ट को लेकर गृह मंत्री ने दी बड़ी राहत
  • दिल्ली में टेस्ट के लिए देने होंगे सिर्फ 2400 रुपये
  • दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या 44000 पहुंची
  • दिल्ली के बिगड़ते हालात पर अमित शाह की नजर
राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कुछ समय पहले एक बयान में कहा था कि अब सभी को कोरोना के साथ ही जीने की आदत डालनी होगी और इसी एजेंडे के तहत केजरीवाल ने लॉकडाउन के पांचवें चरण में ज्यादा से ज्यादा क्षेत्रों में लोगों को छूट दे दी, नतीजा लोग बड़ी संख्या में बाहर निकलने लगे। 1 जून से शुरू हुए लॉकडाउन के पांचवें चरण में कोरोना ने भी तेजी से कदम बढ़ाया और हर दिन कोरोना संक्रमित की संख्या एक नया रिकॉर्ड के साथ सामने आने लगा।
 
 
दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या 44000
इस नई रिपोर्ट के साथ ही केजरीवाल सरकार की पोल खुलने लगी, महामारी के शुरुआती दिनों में दिल्ली में संक्रमित लोगों की संख्या काफी कम थी उस समय केजरीवाल सरकार दावा करती थी कि अगर दिल्ली के हालात बिगड़े तो भी वह उसे संभाल लेगें लेकिन फिलहाल दिल्ली में 44 हजार से अधिक कोरोना संक्रमित हो चुके हैं और अब हालात दिल्ली सरकार के हाथ में नहीं है। दिल्ली की सरकार की तैयारी अब धरी की धरी रह गयी और लोगों को हॉस्पिटल में एडमिट करने के लिए बेड भी नहीं उपलब्ध है।
 
दिल्ली में कोरोना टेस्ट के दाम हुए कम

दिल्ली के बिगड़ते हालात को लेकर केजरीवाल ने केंद्र से गुहार लगाई, जिसके बाद अमित शाह ने केजरीवाल के साथ बैठक की और दिल्ली पर नए सिरे से काम करना शुरू किया गया। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कुछ बड़े अधिकारियों को इस काम के लिए नियुक्त किया इसके साथ ही अमित शाह ने कोरोना वायरस के परीक्षण की कीमत में भारी कटौती कर दी है। दिल्ली में पहले कोरोना टेस्ट करवाने के लिए लोगों को 4500 रुपए निजी लैब को देने होते थे जबकि इसकी कीमत गृह मंत्रालय ने कम करके 2400 रुपए तय कर दी है। गृह मंत्रालय ने ट्वीट कर इसकी जानकारी भी लोगों से साझा की है। ट्वीट में लिखा गया गृह मंत्री ने लोगों को बड़ी राहत देते हुए कोरोना टेस्ट के दाम में भारी कटौती की है।

राजधानी में कोरोना का कहर इस क़दर बढ़ चुका है की खुद दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन कुछ दिन पहले ही इस वायरस की चपेट में आ गए, उनका अब तक दो बार टेस्ट हो चुका है जिसमें उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव पाई गई है उन्हें इससे पहले ते़ज बुख़ार था और सांस लेने में तकलीफ़ हो रही थी जिसके बाद उन्हें राजीव गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।
राजधानी दिल्ली के अगर पिछले 15 दिनों पर नजर डालें तो यह पता चलता है कि यह कितनी ही तेजी से फैल रहा है।
  • 1 जून को कुल संक्रमित लोगों की संख्या 20834 
  • 5 जून को यह संख्या बढ़कर 26334 
  • 10 जून को संक्रमित की संख्या 32810 
  • 15 तारीख को यह संख्या बढ़कर 42829 तक पहुंच गयी 
पिछले 15 दिनों में करीब 20000 से अधिक लोग इस संक्रमण की चपेट में आए हैं अगर दिल्ली सरकार समय रहते इस पर ध्यान नहीं दिया तो दिल्ली के हालात और भी बिगड़ सकते हैं।

आपकी प्रतिक्रिया...