जम्मू-कश्मीर में सेना की बड़ी कार्रवाई, मार गिराए 3 आतंकवादी

  • जम्मू-कश्मीर में सेना की बड़ी कार्रवाई, मार गिराए तीन आतंकवादी 
  • सेना और परिवार ने आतंकियों को दिया था आत्मसमर्पण का मौका
  • आतंकियो ने सेना पर की थी पहली फ़ायरिंग 
 
सेना ने तीन आतंकवादियों को किया ढेर
जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में रविवार को सेना और आतंकवादियों के बीच फिर से हुई मुठभेड़ हुई। इस दौरान सेना ने 3 आतंकवादियों को मार गिराया। इससे पहले सेना ने जम्मू कश्मीर में ही शुक्रवार को पांच और आतंकवादियों को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया था। रविवार सुबह सेना को खुफ़िया जानकारी मिली कि शहर के जूनीमार इलाके में कुछ आतंकवादी छिपे हुए हैं जिसके बाद सेना ने मोर्चा संभालते हुए इलाके को घेर लिया और तलाशी अभियान शुरू कर दिया।
 
 
सेना को मिली थी गुप्त सूचना
जम्मू कश्मीर पुलिस और सेना के संयुक्त अभियान के चलते आतंकवादियों को जल्द ही ढूंढ निकाला गया और उन्हें आत्मसमर्पण करने का मौका भी दिया गया, इसके लिए आतंकवादियों के परिवार वालों को भी सामने लाया गया और उन्हें आत्मसमर्पण के लिए कहा गया लेकिन सेना और परिवार वालों की यह कोशिश नाकाम रही। इस दौरान आतंकवादियों ने सेना पर फ़ायरिंग खोल दी जिसके बाद सेना ने भी मुंह तोड़ जवाब दिया, सेना और आतंकियों के बीच काफी समय तक गोलीबारी चलती रही और अंत में सभी तीनों आतंकवादी मौके पर ही मार दिए गए हालांकि आतंकवादियों की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है सेना ने अभी भी अपना सर्च ऑपरेशन जारी रखा है।
BSF जवान की हत्या में थे शामिल
जम्मू कश्मीर पुलिस महानिरीक्षक संजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि मारे गए आतंकवादियों के पास से बड़ी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद भी बरामद हुआ है। मारे गए तीनों आतंकी बीएसएफ़ जवान की हत्या में भी शामिल थे। आतंकी श्रीनगर के बाहरी इलाके में दो बीएसएफ़ कर्मियों की हत्या करके उनका हथियार लेकर फरार हो गए थे। सेना को इनकी तलाश काफी समय से थी।
 
 
BSF ने मार गिराया आतंकियों का ड्रोन
घाटी में सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ करीब हर दिन देखने को मिल रही है इस साल की बात करें तो सेना ने अब तक 100 से अधिक आतंकवादियों का सफाया कर दिया है। हाल ही में बीएसएफ़ ने एक ऐसे ड्रोन को भी मार गिराया था जो आतंकवादियों के लिए बड़ी मात्रा में हथियार और गोला बारूद लेकर सीमा में दाखिल हो रहा था। बीएसएफ़ ने बताया कि ऐसा पहली बार हो रहा है जब ड्रोन के माध्यम से आतंकियों तक हथियार और गोला-बारूद पहुंचाने की कोशिश की जा रही है।

This Post Has One Comment

  1. Brahmanand D Pandey

    हिंदी विवेक के शानदार ढंग से बढ़ते कदम ने उसे एक समसामयिक पत्रिका के रूप स्थापित किया है जिसकी नजर हर क्षेत्र में अपनी पैठ बनाने में लगातार सफल हो रही है इस शानदार सफलता के लिए विवेक परिवार को बहुत बहुत बधाई एवं ढेर सारी शुभकामनाएं नमस्कार वन्देमातरम

आपकी प्रतिक्रिया...