भारत की चीन के खिलाफ जीत

  • भारत-चीन सीमा से चीनी सैनिकों की वापसी शुरु
  • चीनी सैनिकों ने खाली किए तीन पाइंट
  • गलवान में भारत को मिली अहम जीत 
  • पीएम मोदी के दौरे से डरा चीन 
 
 
भारत की चीन के खिलाफ हुई जीत
भारत चीन सीमा विवाद पर भारत को लगातार जीत मिलती जा रही है। सोमवार को भारत को उस समय जीत का एहसास हुआ जब चीन के सैनिक पीछे हटने शुरु हो गये। जानकारी के मुताबिक चीनी सैनिक अब पीछे की तरफ जा रहे है उन्होने अपना टेंट भी हटाना शुरु कर दिया है। चीनी सैनिकों की गाड़ियों की संख्या भी कम होती नजर आ रही है। हालाकि अभी तक भारतीय सेना के पास यह आंकड़ा नहीं मौजूद है कि चीनी सैनिकों ने कितना पीछे कदम खींचा है लेकिन उन्होने पीएलए पीपी 14 से अपना टेंट हटा लिया है। 
चीनी सेना ने खाली किए 3 पोस्ट
सूत्रों की मानें तो चीनी सेना ने कुल 3 पोस्ट खाली कर दिया और अपने टेंट व बख्तरबंद गाड़ियों के साथ पीछे हटना शुरु कर दिया है। चीनी सैनिकों ने जो तीन पोस्ट खाली किये है उनमें गलवान, गोगरा और हॉटस्प्रिंग शामिल है हालांकि चीनी सैनिक अभी भी पेंगांग में डटे हुए है। भारत शुरु से ही यह मांग कर रहा है कि चीनी सैनिकों को फिंगर 8 से पीछे हटना होगा और यही भारत- चीन के बीच समझौते में भी मंजूर हुआ था। भारत को अब चीन के उपर भरोसा कम रह गया है क्योंकि चीन दुनिया को दिखाने के लिए करता कुछ और है लेकिन उसकी चाल हमेशा अलग होती है। 
 
खुद के नुकसान से डरा चीन
भारत और चीन के बीच मई से ही सीमा विवाद जारी है दोनों देशों के बीच खूनी झड़प में भारत के 20 से अधिक सैनिक शहीद हो गये थे जबकि चीन के भी 45 से अधिक सैनिक मारे गये थे। भारत चीन के बीच इससे पहले भी कई बार विवाद हुए है लेकिन हर बार चीन भारत को धमकानें में कामयाब हो जाता था लेकिन इस बार भारत के पीएम मोदी के आगे उसकी धमकी नहीं चली और उसे उल्टे पैर लौटना पड़ रहा है। भारत ने चीन को ना सिर्फ सीमा पर कड़ी टक्कर दी बल्कि टेक्नालिजी और व्यापार के क्षेत्र में भी उसे बड़ा नुकासान पहुंचाया है। 
 
15 जून को हुई हिंसक छड़प के बाद से लगातार सेना के अधिकारियों की बैठकें लगातार जारी थी जिसके बाद दोनों सेनाओं ने इस पर सहमति जताई कि वह पहले वाले स्थान पर फिर से लौट जाएंगी। सोमवार को इसकी शुरुआत भी हो गयी और चीनी सैनिक वापस लौटना शुरु कर चुके है। पीएम मोदी के अचानक से हुए दौरे से चीन पर असर पड़ा है और उसे यह समझ आ गया कि इस बार भारत नरमी के मूड में नहीं है। चीन को यह भी समझ आ गया कि अगर भारत से जंग होती है तो उसे बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है। 
 

This Post Has One Comment

  1. Dr. Pramod Pathak

    यह जीत नहीं| आज की लडाई कल पर टाली गयी है| चीन के मनसुबे जमिन हडपनेके है| और जब तक एक दो बार उसे कुछ जगहों से पिछे भगाया नहीं जाय तब तक ये चलते रहेगा| और अब तो भारतीय माध्यमों में खासकर अक्साई चीन खाली करने की मांग दोहराते रहने की आवश्यकता है| अभी जीत का ढोल बजाया तो हमारी आत्मसंतुष्टी होगी| प्रमोद पाठक

आपकी प्रतिक्रिया...