5 अगस्त से शुरु होगा राम मंदिर का भव्य निर्माण

  • राम मंदिर के लिए 5 अगस्त हो होगा शिलान्यास
  • शिलान्यास में पीएम मोदी हो सकते है शामिल
  • मंदिर के नक्शे में किया गया बदलाव 
  • दुनिया के बड़े मंदिरों में शुमार होगा राम मंदिर

सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद आखिरकार 5 अगस्त से राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरु हो जायेगा। श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की आखिरी बैठक में कई अहम फैसले लिये गये और इसकी रिपोर्ट पीएमओ को भेजी गयी जिसके बाद 5 अगस्त की तारीख को शिलान्यास के लिए तय किया गया। श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की आखिरी बैठक में मंदिर के नक्शे पर फिर से विचार किया गया और इसको और ऊंचा करने का फैसला लिया गया। राम मंदिर अब दो नहीं बल्कि तीन मंज़िला बनाया जायेगा। मंदिर की पहले ऊंचाई 128 फीट थी जिसे बाद में बढ़ा कर 161 फीट कर दिया गया इसके साथ ही मंदिर की लम्बाई 268 फीट होगी जबकि चौड़ाई 140 फीट होगी। पूरे मंदिर में कुल 318 खंभे होंगे और हर तल पर 106 खंभे होंगे। 
श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की तरफ से मंदिर के शिलान्यास के लिए 3 अगस्त और 5 अगस्त की तारीख निश्चित की गयी थी लेकिन इस पर आखिरी फैसला पीएमओ को लेना था। पीएमओ ने 5 अगस्त को शिलान्यास के लिए निश्चित किया है। टस्ट्र की तरफ से प्रधानमंत्री को भी शिलान्यास के लिए बुलावा भेजा गया है जिसके बाद से ऐसी उम्मीद लगाई जा रही है कि पीएम मोदी 5 अगस्त की शिलान्यास में शामिल हो सकते है। 5 अगस्त को होने वाले भूमि पूजन में पूरे देश से बड़े बड़े महंत और साधू शामिल होने वाले है। काफी लंबे समय से राम मंदिर का इंतजार सभी को था ऐसे में मंदिर निर्माण की खुशी में हर कोई इसका साक्षी बनना चाहता है।
 
ट्रस्ट की आखिरी बैठक में यह निश्चित किया गया है कि नक्शे के फाइनल होते ही कार्य तेजी से आगे बढ़ेगा और करीब 3 से साढे तीन साल के अंदर मंदिर का पूरा काम खत्म कर दिया जायेगा। ट्र्स्ट के महासचिव चंपत राय ने यह जानकारी दी कि मंदिर निर्माण में पैसे की कमीं नहीं होने वाली है क्योंकि सरकार के साथ साथ जनता की तरफ से बड़ा दान मिल सकता है। चंपत राय के मुताबिक मंदिर के क्राउड फंडिग की जायेगी और करीब 10 लाख से अधिक परिवार वालों से संपर्क किया जायेगा। 

This Post Has One Comment

  1. Kailash

    जय जय श्री राम

आपकी प्रतिक्रिया...