आखिर गृह मंत्रालय तक कैसे पहुंचा कोरोना संक्रमण!

कोरोना का कहर लगातार बढ़ता ही जा रहा है और अब इसकी चपेट में आम लोगों के साथ साथ बड़ी हस्तियां भी आ रही है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी कोरोना संक्रमित पाये गये है जबकि उत्तर प्रदेश की एक महिला मंत्री की कोरोना की वजह से मौत हो गयी है वह पिछले कई दिनों से अस्पताल में भर्ती थी। अमित शाह की तबियत खराब होने के बाद उनका कोरोना टेस्ट करवाया गया जिसके बाद उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी और फिर उन्हे गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में भर्ती करावाय गया जहां उनका इलाज जारी है। केंद्रीय गृह मंत्री ने खुद ट्ववीट कर इसकी जानकारी दी और कहा कि वह ठीक है लेकिन डाक्टरों की सलाह पर वह अस्पताल में भर्ती हुए है। अमित शाह शनिवार को लोकमान्य तिलक की 100वीं पुण्यतिथि कार्यक्रम में शामिल हुए थे जिसके बाद अब उनके संपर्क में आये लोगों की भी जांच जारी है। 

 
वहीं कोरोना का संक्रमण भी लगातार बढ़ता जा रहा है और एक दिन में मिलने वाले संक्रमित लोगों की संख्या हर दिन एक नया रिकार्ड बना रही है। सरकार की तरफ से लगातार लोगों को निर्देश दिया जा रहा है और उनका पालन करने के लिए कहा जा रहा है लेकिन बढ़ते आंकड़े यह साफ कहते है कि कहीं ना कहीं नियमों की अनदेखी हो रही है हालांकि गनीमत की बात यह है कि जिस तेजी से संक्रमण बढ़ रहा है उसके हिसाब से मौत का आंकड़े काफी कम है इसके साथ ही पूरी दुनिया में भारत में संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा सबसे कम है। 
 
 
देश में कुल संक्रमित लोगों का आंकड़ा 17 लाख को पार कर चुका है और इसमें करीब हर दिन 50 हजार की बढ़त हो रही है जिससे यह आंकड़ा हर दो दिन में एक लाख और बढ़ जा रहा है हालांकि रिकवरी रेट ठीक होने की वजह से करीब 10 लाख से अधिक लोग अब तक ठीक होकर घर जा चुके है यानी करीब 7 लाख लोगों का इलाज जारी है लेकिन रिकवरी रेट के अनुसार ज्यादातर लोगों के ठीक होने की उम्मीद है। देश में वर्तमान में रिकवरी रेट 64.53 है जबकि मृत्यु दर 2.15 प्रतिशत है। 

आपकी प्रतिक्रिया...