CBI ने शुरु की सुशांत केस की जांच, 6 लोगों के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा

CBI ने रिया सहित परिवार के खिलाफ दर्ज किया केस
सुशांत सिंह राजपूत केस की आखिरकार सीबीआई ने जांच शुरु कर दी और सबसे पहले इस केस में रिया सहित कुल 6 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गयी है। CBI ने अपनी जांच की शुरुआत में रिया चक्रवर्ती, उनकी मां संध्या चक्रवर्ती, पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती और भाई शोविक चक्रवर्ती के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गयी है इसके साथ ही सुशांत के दोस्त सैमुअल मिरांड़ा और श्रुति मोदी के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सीबीआई सबसे पहले सुशांत केस की शुरुआती जांच इन सभी से पूछताछ के साथ शुरु करेगी। CBI ने इस केस से जुड़े दस्तावेज और जानकारी मुंबई और बिहार पुलिस से मांगे है जिसके आधार पर यह पता चल सकेगा कि अब तक क्या जांच हुई है और शक की सूई किस दिशा में है।
सुशांत केस में कई बड़ी हस्तियों के शामिल होने के बाद से इसका जिक्र पूरे देश में हो रहा था और सभी सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे लेकिन महाराष्ट्र सरकार की तरफ से लगातार इसको नकारा जा रहा था जिसके बाद बिहार की नीतीश सरकार ने इस केस के लिए केंद्र सरकार से मांग की और केंद्र की तरफ से इसे मंजूरी भी मिल गयी जिसके बाद सीबीआई टीम ने सुशांत केस की जांच शुरु कर दी है। 
 
सुप्रीम कोर्ट में हाल ही में हुई सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि इस केस की पूरी सच्चाई लोगों के सामने आनी चाहिए और इसके लिए महाराष्ट्र सरकार को जल्द से जल्द इस केस की रिपोर्ट सौंपने को कहा है। सुशांत सिंह के पिता का आरोप है कि रिया ने सुशांत के खाते से बड़ी रकम निकाली है जिसके आधार पर ईडी ने भी रिया के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है और शुक्रवार को रिया से पूछताछ भी होगी।   
 
 
सुशांत सिंह केस में मुंबई पुलिस की जांच का रवैया संतोष जनक नहीं था ऐसा आरोप सुशांत कि पिता ने लगाया है और बिहार पुलिस जब जांच के लिए मुंबई पहुंची तब स्थानीय प्रशासन की तरफ से सहयोग कम किया गया और कुछ आईपीएस स्तर के अधिकारियों के साथ जोर ज़बरदस्ती भी की गयी जिस पर नीतीश कुमार ने बयान देते हुए कहा था कि जो हुआ वह ठीक नहीं हुआ। 
 
 
सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को अपने बांद्रा पाले फ्लैट में मृत पाये गये थे। शुरुआती दौर में यह कहा गयाकि यह आत्महत्या है लेकिन फ्लैट में कोई भी सुसाइड नोट नहीं मिला और जिस हालत में सुशांत का मृत शरीर फ्लैट में मिला उससे भी कई सवाल खड़े होते है जिसके बाद इसकी जांच शुरु हुई और अब यह केस सीबीआई के हाथ में है। 

आपकी प्रतिक्रिया...