रुस में कोरोना की वैक्सीन तैयार, राष्ट्रपति पुतिन ने की पुष्टि

  • रुस को कोरोना वैक्सीन बनाने में मिली सफलता
  • राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दी बधाई
  • पुतिन की बेटी को भी दिया दवा का डोज़
  • डब्लूएचओ की मंजूरी के बाद दुनिया को मिलेगी दवा
पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है लेकिन इसी बीच रुस ने एक अच्छी खबर दी है कि वह कोरोना वायरस की वैक्सीन बनाने में कामयाब हो गया है। रुस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने खुद इसकी खबर की पुष्टि की और कहा कि रुस ने यह वैक्सीन तैयार कर ली है और उसका सफल ट्रायल भी खत्म हो चुका है जिसके बाद अब इस वैक्सीन को रजिस्टर्ड करवाना होगा और फिर रुस में इस दवा को बनाने का काम शुरु हो जायेगा। पुतिन के मुताबिक इस दवा को रुस सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से भी मंजूरी मिल गयी है और इसका एक डोज पुतिन की बेटी को भी दिया गया है क्योंकि वह कोरोना से पीड़ित थी। पुतिन की बेटी अब ठीक है हालांकि जिस समय उसे यह दवा दी गयी थी कुछ समय से लिए उसका तापमान ज्यादा हुआ था लेकिन वह सब कुछ ठीक है। 
 
रुस सरकार की इस सफलता को अब विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरफ से भी मंजूरी की जरुरत होगी जिसके बाद इस दवा का इस्तेमाल पूरी दुनिया में किया जा सकेगा लेकिन रुस सरकार के इस दावे को WHO की तरफ से मंजूरी मिलना अभी बाकी है।  WHO के मुताबिक पूरी दुनिया में कई देश इस दवा पर काम कर रहे है और सभी अलग अलग स्टेज पर पहुंच चुके है। अमेरिका, ब्रिटेन, इजराइल, जापान, रुस और भारत कोरोना की वैक्सीन पर काम कर रहा है भारत वैक्सीन के मामले में दूसरे स्टेज पर है जहां इस दवा का मानवीय परीक्षण चल रहा है अगर यह सफल होता है तो फिर इस दवा को मंजूरी मिल सकती है। 
 
कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप की वजह से पूरी दुनिया परेशान है इसलिए हर कोई इस वायरस की दवा बनाने में लगा हुआ है। कोरोना वायरस की वजह से अब तक 7 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 2 करोड़ से अधिक लोग इस वायरस की वजह से संक्रमित हो चुके है। रुस में कुल संक्रमित लोगों की संख्या करीब 9 लाख है जबकि 15 हजार लोग इस वायरस की वजह से अपनी जांन गवां चुके है। 

आपकी प्रतिक्रिया...