सऊदी से दुश्मनी कर पाक को हुआ बड़ा नुकसान, तेल और कर्ज दोनों देने से किया मना

  • कश्मीर मुद्दे पर पाक और सऊदी के बीच दरार
  • OIC की बैठक ना बुलाने पर भड़का था पाक
  • सऊदी भारत को नहीं बना सकता अपना दुश्मन
  • सऊदी ने तोड़ी दोस्ती, कर्ज और तेल देने से किया मना

जम्मू कश्मीर को पाने का सपना पाकिस्तान का उस समय पूरी तरह से टूट गया जब भारत की मोदी सरकार ने घाटी से धारा 370 खत्म कर उसे केंद्र शासित राज्य बना दिया था। भारत सरकार के इस कदम के बाद पाकिस्तान कश्मीर का रोना पूरी दुनिया में रोने लगा लेकिन कोई भी देश उसकी मदद के लिए आगे नहीं आया और ना ही किसी भी देश ने कश्मीर को लेकर कोई बयान दिया। हम इस पूरे मामले को प्रधानमंत्री की बड़ी कूटनीति के तौर पर देखते है जो पूरी तरह से सफल रही। 
 
पाकिस्तान को कश्मीर तो नहीं मिला बल्कि उसका दोस्त सऊदी भी उससे गुस्सा हो चुका है और दोनों ही इस्लामिक देशों के बीच में खटास आ गयी है, बात यहां तक बिगड़ चुकी है कि सऊदी अरब ने पाकिस्तान को तेल देने से मना कर दिया है और जो कर्ज पहले से बाकी था उसे भी जल्द से जल्द चुकाने को कहा है। दरअसल भारत के फैसले के बाद पाकिस्तान बार बार सऊदी सरकार से यह मांग कर रहा था कि वह इस्लामिक देशों की एक बैठक बुलाये जहां कश्मीर मुद्दे को उठाया जायेगा और सभी देश भारत के खिलाफ आवाज़ उठायेंगे लेकिन पाकिस्तान के बार बार कहने के बाद भी सऊदी ने भारत के खिलाफ दुश्मनी मोल लेना ठीक नहीं समझा और पाक की बात को अनसूना कर दिया। 
 
ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कॉपरेशन (OIC) में कुल 57 मुस्लिम देश है और इसमें सऊदी अरब का दबदबा है वैसे तो पाकिस्तान भी इस संगठन का सदस्य है लेकिन उसकी इतनी हैसियत नहीं है कि वह इस बैठक को बुला सके जिससे वह लगतार सऊदी अरब पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा था। पाक सरकार कश्मीर मुद्दे को इस संगठन के द्वारा दुनिया में पहुंचाना चाहती थी लेकिन सऊदी सरकार ने उसका सहयोग नहीं किया जिसके बाद पाक की तरफ से सऊदी के खिलाफ बयानबाज़ी होने लगी। पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने एक बयान में कहा कि अगर सऊदी उनकी मदद नहीं करेगा तो पाक की तरफ से उन देशों की बैठक बुलाई जायेगी जो कश्मीर मुद्दे पर पाक का साथ देंगे। 
 
पाकिस्तान और सऊदी के बीच दोस्ती में आयी दरार के बाद अब सऊदी के प्रिंस ने पाकिस्तान से रिश्ते खत्म करने का ऐलान कर दिया है इसके साथ ही पाकिस्तान को मिलने वाले कच्चे तेल पर रोक लगा दी गयी है यानी पाक को अब किसी और देश की तरफ देखना होगा। सऊदी द्वारा दिया गया कर्ज भी वह जल्द ही वसूल करेगा। सऊदी ने हाल ही में पाक को 1 बिलियन डॉलर का कर्ज दिया था जिसे फिर से लौटाने को कहा गया और पाक को मजबूरी में उसे वापस करना पड़ा।  प्रधानमंंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत का डंका पूरी दुनिया में बज रहा है देश के बड़े बड़े देश भारत से दोस्ती कर रहे है और हर संभव मदद के लिए साथ खड़े है इसका ताजा उदाहरण चीन से हुए विवाद के दौरान देखने को मिला था फिर ऐसे में कोई भी देश पाकिस्तान के लिए भारत को अपना दुश्मन नहीं बनाएगा।

आपकी प्रतिक्रिया...