मोदी का गैर-कांग्रेसी सबसे लंबा कार्यकाल, 15 अगस्त तोड़ेंगे एक और रिकार्ड

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने काम को लेकर लगातार रिकार्ड बना रहे है लेकिन इसी बीच 15 अगस्त से पहले उनके नाम एक और रिकार्ड कायम हो गया। मोदी ने गैर काँग्रेसी पीएम के तौर पर सबसे लम्बे समय तक पीएम रहने का रिकार्ड बना लिया इससे पहले यह रिकार्ड पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर था इसके साथ ही देश के चौथे सबसे अधिक समय तक पीएम रहने का भी रिकार्ड बना लिया है बाकी तीन लोग कांग्रेस पार्टी से पीएम रह चुके है जिसमें जवाहर लाल नेहरु, इंदिरा गांधी और मनमोहन सिंह का नाम शामिल है। प्रधानमंत्री मोदी 15 अगस्त को एक और रिकार्ड अपने नाम करने वाले है। इस बार पीएम मोदी लाल किले से 7वीं बार 15 अगस्त को झंडा फहरायेंगे और यह करने वाले वह देश के चौथे पीएम होंगे।   
 
नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी ने लोकसभा चुनाव 2014 में बड़ी जीत हासिल की थी और बहुमत से सत्ता में लौटी थी जिसके बाद पीएम मोदी ने पांच साल का कार्यकाल पूरा किया और फिर सन 2019 में भाजपा ने मोदी को चेहरा बना लोकसभा चुनाव लड़ा और भारी वोटों से विजयी हुई। अब तक नरेंद्र मोदी ने अपना 6 साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है लेकिन देश की जनता का मूड अभी पीएम बदलने का नहीं लग रहा है।
 
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी इससे पहले देश की बागडोर तीन बार संभाल चुके है। पहली बार 1996 में अटल बिहारी प्रधानमंत्री बने थे लेकिन बहुमत साबित करने में असफल रहे जिसके बाद उन्होने फिर 1998-1999 में सत्ता संभाली और फिर सन 2004 तक देश के प्रधानमंत्री रहे। सन 2004 के लोकसभा चुनाव में उन्होने फिर से अपनी किस्मत आज़माई लेकिन इस बार देश की जनता ने उनका साथ नहीं दिया। 
 
देश के पीएम के तौर पर सबसे अधिक समय तक सेवा करने का अवसर पं. जवाहर लाल नेहरू को मिला था और वह 16 वर्ष 289 दिनों तक देश के पीएम थे दूसरे नंबर पर इंदिरा गांधी थी जो 11 वर्ष 59 दिन तक देश की प्रधानमंत्री थी जबकि तीसरे नंबर पर भी काँग्रेसी नेता मनमोहन सिंह का नाम है वह 10 वर्ष 4 दिन तक प्रधानमंत्री रहे। इसके बाद गैर-काँग्रेसी नेता अटल बिहारी वाजपेयी का नाम था जिन्होंने अलग अलग कार्यकाल में कुल 2268 दिनों तक देश की सेवा की। फिलहाल पीएम मोदी ने अपनी ही पार्टी के पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी का रिकार्ड तोड़ दिया है। 

आपकी प्रतिक्रिया...