कर्नाटक में भी लागू होगा योगी का यह वसूली मॉडल

देश के साथ साथ उत्तर प्रदेश में भी CAA का विरोध हुआ था और जमकर तोड़ फोड़ हुई थी। इस हिंसक आंदोलन में सरकारी और गैर सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया गया था इस दौरान उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने एक नया फार्मूला निकाला था जिससे उत्तर प्रदेश में अब तोड़ फोड़ करने से पहले लोग कई बार सोचते है। योगी सरकार का वह फार्मूला था वसूली करने का यानी जितने लोगों ने सीएए के नाम पर बिना वजह दंगा किया और सरकारी व निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया उसकी भरपाई भी उन्ही लोगों से करवायी गयी। यूपी सरकार ने एक आदेश जारी किया था कि जिन लोगों ने आंदोलन के नाम पर दंगा और आगजनी की घटना को अंजाम दिया है सरकार उनसे ही नुकसान की भरपाई करेगी। 
 
योगी सरकार का यह वसूली का आइडिया तो पहले लोगों को समझ नहीं आया लेकिन बाद में इसकी जमकर तारीफ हुई। योगी सरकार ने सीसीटीवी की मदद से दंगा करने वालों की तस्वीर और उनके जुर्माने की रकम एक पोस्टर के माध्यम से सड़कों पर लगवा दी और एक निश्चित समय में इसकी भरपाई करवा ली गयी। अब योगी सरकार का यह आइडिया कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियूरप्पा को इतना पसंद आया कि उन्होने ने भी इसे राज्य में लागू करने का ऐलान कर दिया। 
आप को बता दें कि हाल ही में कर्नाटक के बेंगालूरु शहर में एक सोशल मीडिया पर किये गये विवादित पोस्ट के बाद दंगा हो गया था जिसमें कई लोगों की जान चली गयी और करोड़ो का नुकसान किया गया। दंगा करने वालों ने सरकारी और निजी संपत्ति को नुकसान पहुंचाया और जमकर आगजनी की। कर्नाटक सरकार की तरफ से इसके जांच के आदेश दिये गये है लेकिन अब सरकार इस करोड़ो के नुकसान को योगी मॉडल के तौर पर वसूल करने की तैयारी कर रही है। 


कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियूरप्पा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी और कहा कि दंगे में हुए नुकसान का आंकलना किया जायेगा और फिर उसकी वसूली भी आरोपियों से ही की जायेगी। येदियुरप्पा ने कहा कि हम वसूली के लिए माननीय सुप्रीम कोर्ट के नियमानुसार काम करेंगे और कोर्ट से एक रिकवरी ऑफिसर नियुक्त करने की अपील करेंगे।

आपकी प्रतिक्रिया...