गांधी परिवार के खिलाफ चिट्ठी लिखना बना मुसीबत

कांग्रेस के कुछ नेताओं द्वारा लिखे गये पत्र के बाद से पार्टी के अंदर आतंरिक कलह बढ़ती जा रही है। पार्टी के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने सोनिया गांधी को पत्र लिख कर पार्टी में बदलाव की मांग की थी जिसके बाद पार्टी में बदलाव देखने को मिला लेकिन जिन नेताओं ने पार्टी में बदलाव की मांग की थी उनमें से कुछ को महत्त्वपूर्ण पदों से बाहर कर दिया गया हालांकि यहां यह समझना थोड़ा मुश्किल है कि यह बदलाव युवाओं को आगे लाने के लिए किया गया है या फिर पार्टी के खिलाफ पत्र लिखने की सजा मिली है। पार्टी के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद, मल्लिकार्जुन खड़गे, मोती लाल वोरा और अंबिका सोनी को AICC के जनरल सेक्रेटरी के पद से हटा दिया गया लेकिन सोनिया गांधी द्वारा गठित नई सलाहकार समिती में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को जगह दी गयी है जिसमें ए के एंटनी, अंबिका सोनी, अहमद पटेल, मुकुल वासनिक और रणदीप सुरेजवाला का नाम शामिल है। 
 
चिट्ठी लिखने वालों पर गिरी गाज!
कांग्रेस पार्टी में यह बदलाव सोनिया गांधी के विदेश जाने से पहले हुआ है वैसे इस तरह के बदलाव के आसार पहले से ही लगाये जा रहे थे क्योंकि कांग्रेस पार्टी में उठे चिट्ठी विवाद के बाद से पार्टी में दरार आ गयी थी और इसे जल्द से जल्द पार्टी की तरफ से भरना जरूरी था इसलिए पार्टी ने देरी ना करते हुए पार्टी में कई बदलाव कर दिये। सूत्रों की मानें तो पार्टी में आंतरिक चुनाव भी कराए जा सकते है पिछले 10 सालों से करीब पार्टी को हर चुनाव में हार का ही मुंह देखना पड़ रहा है इसलिए पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी पार्टी में बड़े बदलाव के मूड में नजर आ रही है। इस नये फेरबदल के दौरान पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को AICC से बाहर कर दिया गया है और उनके स्थान पर युवाओं को जगह दी गयी है लेकिन पार्टी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को ICC में जगह दी गयी है।
 
कांग्रेस पार्टी के जिन वरिष्ठ नेताओं को पार्टी के महत्त्वपूर्ण पदों बाहर किया  
1. गुलाब नबी आजाद हरियाणा के प्रभारी महासचिव की ज़िम्मेदारी संभाल रहे थे।
2. अंबिका सोनी जम्मू कश्मीर की प्रभारी महासचिव की ज़िम्मेदारी संभाल रही थी।
3. मल्लीकार्जुन खड़गे महाराष्ट्र  के प्रभारी महासचिव की ज़िम्मेदारी संभाल रहे थे।
4. लुईजिन्हो फलेरो मिरोजम, त्रिपुरा, नागालैंड, अरुणाचल प्रदेश और मेघालय के प्रभारी महासचिव की ज़िम्मेदारी संभाल रहे थे।
5. मोतीलाल वोरा कांग्रेस के प्रशासनिक मामलो के प्रभारी महासचिव थे।  
 
कांग्रेस पार्टी ने जिन लोगों को नई ज़िम्मेदारी सौंपी
1. हरीश रावत को पंजाब का प्रभार सौंपा गया है। 
2. तारिक अनवर को केरल और लक्ष्य दीप की ज़िम्मेदारी सौंपी गयी है। 
3. राजीव शुक्ला को हिमाचल प्रदेश का प्रभारी बनाया गया है। 
4. मणिकम टैगोर को तेलंगाना की ज़िम्मेदारी दी गयी है। 
5. देवेंद्र यादव को उत्तराखंड का प्रभारी बनाया गया है। 
6. विवेक बंसल को हरियाणा का प्रभारी बनाया गया है। 
 
कांग्रेस पार्टी में हुए बदलाव को लेकर कई कयास लगाये जा रहे है राजनीतिक जानकारों का कहना है कि सोनिया गांधी ने एक तीर से दो निशाना लगाया है पहला कि पार्टी में गांधी परिवार के खिलाफ चिट्ठी लिखने वालों को सजा मिल जायेगी और उन्हे पार्टी के प्रमुख पदों से बाहर कर दिया गया जबकि दूसरा निशाना यह कि पार्टी में पिछले काफी समय से परिवर्तन नहीं हुआ है और आने वाले समय में कुछ राज्यों में चुनाव होने वाले है ऐसे में यह परिवर्तन कर पार्टी फिर से किस्मत आजमाएंगी।  

आपकी प्रतिक्रिया...