सशक्ति करण के चार दशक

साई एडवरटाइजर शायद भारत की पहली विज्ञापन एजेंसी है जो एक महिला श्रीमती गुलेशन पटेल द्वारा स्थापित की गई और चालीस वर्षों के बाद भी सफलतापूर्वक चल रही है।

भारतीय उद्योग जगत में चालीस साल गुजारना और विभिन्न तरह के ग्राहकों के साथ निभाना खासकर ऐसे ग्राहक जो शुरु से साथ हो, बहुत कठिन कार्य है। इनके ग्राहकों में शासकीय, अशासकीय, बहुराष्ट्रीय, एम.एम.सी.जी. इत्यादि शामिल है। और विश्वास ही इसका आधार है। खुद गुलशन कहती हैं कि ‘‘कामयाबी का रास्ता बहुत कठिन है।’’ और जब महिला यह कार्य करती है तो और भी सम्मानजनक हो जाता है।

आइ.एन.एस. द्वारा प्रमाणित साई एडवर्टाइजिंग एजेंसी मीडिया प्लानिंग, पी आर कैपेन, आउटडोर एडवर्टाइजिंग, मार्केटिंग प्रोजेक्ट की वार्षिक रपट, मार्केट का सर्वे, प्रदर्शनी, सेमीनार इत्यादि क्षेत्र में कार्यरत है। वह इंडियन न्यूजपेपर सोसायटी, आल इंडिया रेडियो, दूरदर्शन, एडवर्टाइजिंग ऐजेंसी असोसियेशन ऑफ इंडिया, ऑडिट ब्यूरो ऑफ सर्कुलेशन, एडवर्टाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया की विशेषाधिकृत सदस्य है।

साईं एडवार्टइजर्स के ग्राहकों में कई निम्नलिखित कई बडे नाम शुमार हैं। केन्द्रीय संस्थान- मुंबई पोर्ट ट्रस्ट, जवाहर लाल नेहरु पोर्ट ट्रस्ट,
रेल्वे/सर्विस संस्थान- सेन्ट्रल रेल, वेस्टर्न रेल, आई. आर. सी. टी. सी., कोंकण रेलवे, एम. आर. वी. सी., आर. आर. बी. इत्यादि
बैंकिंग/फाइनांस संस्थान- सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया, एक्सिस बैंक, अबू धाबी कमर्शियल बैंक डेवलपमेंट क्रेडिट बैंक, इंडसइंड बैंक
बहुराष्ट्रीय कंपनियां- इनगरझोल रेन्ड (इं) लि. बायर इंडिया लि; मोदी झेरॉक्स लिमिटेड, ओर्लिकान टेक्सटाइल इंडिया प्रा. लि., शक्ति असोसिएट, कुवैत पेपर सेक फैक्टरी।

हवाई यात्रा/यात्रा- जे. टी. बी. ट्रवेल्स प्रा. लि., एयर केनेडा कार्गो, एयर मारिशस, फिनिश टूरिस्ट बोर्ड
निजि क्षेत्र- ए. बी. जी. हल्दिया बल्क टर्मिनल प्रा. लि., बी. डी. ओ. कंसल्टिंग गुजरात पिपाव पोर्ट, राम दादलानि डेवलपर्स इत्यादि
ग्राहकों द्वारा सबसे अधिक पसंद की जानेवाली एजेंसी में से एड साई स्डवर्टाइजर्स अपने पेशवेर और काम के प्रति लगन रखने वाले कर्मचारियों के कारण ग्राहकों को शाब्दिक योजनाओं और सृजनात्मक विचारों से संतुष्ट करती है।
जहां तक गुलशन पटेल का सवाल है उनके जीवन में काम के अलावा भी बहुत कुछ है। उन्होंने अपने काम और घर के बीच उचित सामंजस्य बनाया है। वे साई बाबा की परम भक्त हैं और अपने उत्थान का श्रेय उन्हीं को देते हुए कहती हैं ‘साई हैं तो सब कुछ है।’ उन्होंने अपनी एजेन्सी का नाम भी इसीलिये साई एडवर्टाजर्स रखा। वे अपने व्यस्त कार्यक्रम से समय निकालकर इलाहबाद में लगे कुंभ मेले में भी गईं। उन्होंने कैलाश मानसरोवर की तेरह बार यात्रा की है।

गुलशन पटेल ही निरंतर प्रेरणा और मार्गदर्शन से और उनकी टीम के ‘इनोवेटिव आइडिया’ के कारण उन्हें कई पुरस्कार भी मिले, जिन में से कुछ निम्नलिखित हैं।

1) सर्वश्रेष्ठ पी. आर. कार्य के लिए इण्डो अमेरिकन कंस्यूलेट के द्वारा दो बार पुरस्कार
2) आर सी एफ लि. के लिये बनाये गये रेडियो जिंगल के लिये ‘आल इंडिया अवार्ड’
3) जेट एयर टूर्स इंडिया लि. और दुबई ट्रेवल एण्ड टूरिज्म फेस्टिवल के लिये ‘बेस्ट लीफलेट अवार्ड’
4) दिल्ली में आयोजित टीटीएफ प्रदर्शनी में फिनिश टूरिस्ट बोर्ड के लिये प्रथम पुरस्कार
5) मुंबई में आयोजित टी. टी. एफ. प्रदर्शन में फिनिश टूनिस्ट बोर्ड के लिये द्वितीय पुरस्कार।

किसी महिला द्वारा 40 वर्षों चलाई जानेवाली साई एडवर्टाइजर्स शायद एक मात्र एजेंसी है जिसके पास ग्राहकों की लंबी सूचि है और जो अपने काम के लिये जानी जाती है।

आपकी प्रतिक्रिया...