हिमाचल में प्रकृति का कहर, 50-60 लोग मलबे में फंसे

हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में बड़ा भूस्खलन हुआ है जिसमें 50 से अधिक लोगों के दबे होने की आशंका जताई जा रही है। इस भूस्खलन की चपेट में एक सरकारी परिवहन की बस और कुछ अन्य वाहन भी आए है जिससे मलबे में दबने वालों की संख्या अधिक हो सकती है। किन्नौर जिले के ज्यूरी रोड पर पहाड़ खिसका है जिसकी वजह से कई वाहन इसकी चपेट में आ गये है। जानकारी के मुताबिक अभी भी पत्थरों का गिरना जारी है जिससे मदद कार्य शुरू नहीं हो पा रहा है। अभी तक 2 लोगों के मौत की खबर आ रही है जबकि 4 लोगों को रेस्क्यू कर अस्पताल भेजा गया है। 
हादसे के तुरंत बाद एनडीआरएफ की टीम को सहायता के लिए लगा दिया गया है इसके साथ ही सेना को भी बुलाया गया है। पहाड़ी इलाके में मदद कार्य में जरूर थोड़ी परेशानी होती है। बताया जा रहा है कि हाईवे नंबर 5 चील जंगल के पास अचानक से चट्टाने गिरने लगी जिससे रास्ते पर चल रहे वाहन इसकी चपेट में आ गए। पत्थरों के गिरने से हिमाचल परिवहन की एक बस और कुछ अन्य वाहन इसमें दब गये। 
 
इस घटना की खबर तुरंत दिल्ली सरकार तक पहुंची। पीएम मोदी और अमित शाह ने घटना पर दुख प्रकट किया और राज्य के मुखिया जयराम ठाकुर से बात उन्हें हर संभव मदद का भरोसा दिलाया। 

आपकी प्रतिक्रिया...