बिहार के सभी पर्यटन स्थलों पर बनेंगे सेल्फी प्वाइंट

Continue Readingबिहार के सभी पर्यटन स्थलों पर बनेंगे सेल्फी प्वाइंट

राज्य के विभिन्न जिलों में देश-विदेश से आये पर्यटकों के लिए पर्यटन विभाग ने सभी पर्यटक स्थलों पर सेल्फी प्वाइंट बनाने का निर्णय लिया गया है। इसको लेकर सभी जिलों को दिशा-निर्देश दिया गया है, ताकि सभी पर्यटन स्थलों पर अलग-अलग तरह का सेल्फी प्वाइंट बन सकें, जो पर्यटकों को…

धार्मिक और सांस्कृतिक पर्यटन विकास की बयार

Continue Readingधार्मिक और सांस्कृतिक पर्यटन विकास की बयार

प्रदेश में दोबारा योगी सरकार का गठन होते प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपनी कैबिनेट के मंत्रियों के साथ प्रदेश के समग्र विकास का खाका तैयार करने में व्यस्त हो गए  हैं तथा प्रतिदिन किसी न किसी विभाग की आगामी सौ दिनों की कार्ययोजना को अंतिम रूप और दिशा निर्देश दे…

भारत दर्शन कार्यक्रम के प्रणेता विद्यानंद शेणाय

Continue Readingभारत दर्शन कार्यक्रम के प्रणेता विद्यानंद शेणाय

भारत माता की जय और वन्दे मातरम् तो प्रायः सब लोग बोलते हैं; पर भारतभूमि की गोद में जो हजारों तीर्थ, धाम, पर्यटन स्थल, महामानवों के जन्म और कर्मस्थल हैं, उनके बारे में प्रायः लोगों को मालूम नहीं होता। भारत दर्शन कार्यक्रम के माध्यम से इस बारे में लोगों को…

महाभारत कालीन अंबरनाथ शिव मंदिर

Continue Readingमहाभारत कालीन अंबरनाथ शिव मंदिर

मुंबई के निकट एक ऐसा मंदिर है, जिसके बारे में मान्यता है, कि यह मंदिर द्वापर काल में पांडवों ने बनाया था, और वह भी मात्र एक ही रात में ।स्थानीय लोगों का तो यहां तक कहना है, की यह मंदिर महाभारत काल मे ही नही, रामायण काल में भी…

रोपवे हादसा: रेस्क्यू ऑपरेशन में क्यों लग रहा समय ?

Continue Readingरोपवे हादसा: रेस्क्यू ऑपरेशन में क्यों लग रहा समय ?

एक हादसा था जहां ट्राली करीब 500 मीटर की उंचाई पर अटक गयी थी जिसे निकालने में करीब 3 दिन का समय लग गया ऐसे यह कहना गलत नहीं होगा कि हमें अभी और काम करने की जरुरत हैं। हम अभी भी बुरी परिस्थितियों को काबू करने में उतने सक्षम नहीं हैं जितने की जरूरत है। इस ऑपरेशन को पूरा करने में तीन दिन का समय लग चुका है जबकि सभी पर्यटकों को एक दिन में ही निकाल लेना चाहिए था

अद्भुत सहरसा जिले में कभी होती थी नील की खेती

Continue Readingअद्भुत सहरसा जिले में कभी होती थी नील की खेती

पर्यटन के नजरिये से जब कभी बिहार घूमने की बात होती है, तो कुछेक नाम ही जुबां पर आते हैं, जैसे गया, राजगीर, दरभंगा आदि। लेकिन, इससे इतर जाएं, तो यहां कई ऐसी जगहें भी हैं, जो ऐतिहासिक महत्व की हैं और उन्हीं में से एक सहरसा जिला भी है।…

हिमाचल प्रदेश की खूबसूरती और पूर्ण राज्य का दर्जा

Continue Readingहिमाचल प्रदेश की खूबसूरती और पूर्ण राज्य का दर्जा

हिमाचल प्रदेश अपने पहाड़ी क्षेत्रों के लिए मशहूर है। हिमाचल का अर्थ होता है 'बर्फ से ढका हुआ क्षेत्र' और सर्दियों में यहां बर्फ की चादर देखने के लिए देश और विदेश से पर्यटक आते है। चार राज्यों की सीमाओं से घिरे हुए हिमाचल प्रदेश की राज्य बनने की अपनी एक कहानी…

केंद्र सरकार की पहलों से आर्थिक उन्नती कैसे हो रही हैं?

Continue Readingकेंद्र सरकार की पहलों से आर्थिक उन्नती कैसे हो रही हैं?

कोरोना संकट का अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। अब जब अर्थव्यवस्था फिर से सक्रिय हो रही है और सकारात्मक परिणाम दे रही है जैसे जीएसटी संग्रह में वृद्धि, विदेशी मुद्रा भंडार में वृद्धि, यूनिकॉर्न स्टार्ट-अप में तीसरे स्थान पर, जीडीपी में सुधार, और इसी तरह बहुत सेक्टर्स... आइए प्रत्येक…

हादसा मुआवजा और जांच का अंतहीन सिलसिला !

Continue Readingहादसा मुआवजा और जांच का अंतहीन सिलसिला !

जम्मू कश्मीर में स्थित वैष्णो देवी मंदिर में नए साल के पहले दिन की पूर्व रात्रि में हुए हृदय विदारक हादसे में 13 श्रद्धालुओं की दुखद मृत्यु हो गई और लगभग इतने ही लोग घायल हो गए। यह हादसा उस समय हुआ जब भीड में शामिल कुछ युवकों के बीच…

चारधाम सड़क परियोजना को हरी झंडी, चीन सीमा तक होगी पहुंच

Continue Readingचारधाम सड़क परियोजना को हरी झंडी, चीन सीमा तक होगी पहुंच

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दो दिनों से बाबा भोलेनाथ की नगरी काशी में है। भोले नाथ की पूजा और गंगा आरती के साथ वह भक्ति व काशीवासियों की सेवा में लीन है उधर सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार के पक्ष में एक बड़ा फैसला हो गया। सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार की…

काशी बना भारतीय संस्कृति के गौरव का प्रतीक

Continue Readingकाशी बना भारतीय संस्कृति के गौरव का प्रतीक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण के साथ इतिहास के एक महत्वपूर्ण अध्याय का निर्माण हुआ। प्रमुख संप्रदायों के संतों की मौजूदगी में महादेव का अनुष्ठान हुआ। गंगा घाटों के साथ शहर की प्रमुख भागों को सजाया गया था। काशी विश्वनाथ मंदिर के सात संपूर्ण कॉरिडोर के…

पर्यटन: राज्य की आय का प्रमुख स्रोत

Continue Readingपर्यटन: राज्य की आय का प्रमुख स्रोत

राज्य के पर्यटन विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार राज्य के 327 मुख्य पर्यटन स्थलों के लिए 176 पर्यटक आवास गृह, 33 रैन बसेरे, 5619 निजी होटल तथा पेइंग गेस्ट एवं 895 धर्मशालाएं उपलब्ध हैं। इसके अतिरिक्त होम स्टे के रूप में भी पर्यटकों के लिए बड़ी संख्या में आवासीय व्यवस्थाएं बनाई गईं हैं, जहां अतिथि के रूप में स्थानीय रीति-रिवाजों व रहन-सहन के साथ ग्राम्य जीवन का आनन्द लिया जा सकता है।

End of content

No more pages to load