पैसेंजर ट्रेनों में पॉकेटमार गिरोह सक्रिय

मुंबई , दिल्ली, गुजरात बाहर से आने वालों यात्रियों के सामान से गायब हो रहे पैसे ज़ेवरात स्थानीय रेलवे जी.आर.पी चोरों को पकड़ने में असमर्थ

प्रयागराज से जौनपुर वाले पैसेंजर ट्रेनों में अब कुछ असामाजिक तत्व जैसे पॉकिट मार चोरों का बड़ा गिरोह सक्रिय हो चुका है। अभी गर्मी के छुट्टियों में यात्रियों का शादी विवाह जैसे कार्यक्रम में आना जाना लगा रहता है। लोकल पैसेंजर ट्रेनों में भीड़ भी काफी होती है इसका फ़ायदा उठा कर लोगो को अपनी बातों बातों मे उलझा कर सामान ऊपर रखवा देते है। मौका देखकर उनके सामान से क़ीमती जेवर पैसा सब ब्लेड की मद्दत से उड़ा लेते है। यह घटना दिन दहाड़े हो रही है।

वही घटना मुंबई के समाज सेवक हर्षद गुप्ता के माता जी के साथ घटी प्रयागराज से जौनपुर के लिए जा रहे पैसेंजर ट्रेन में ऊपर वाले सीट पर चोरों के गिरोह सक्रिय है उन्होंने माता जी को कहा माताजी बैग ऊपर रख दीजिए नीचे बहुत भीड़ है। ऊपर सही है सेफ है नीचे गंदा भी हो रहा है। बातो बातो में उलझा दिए फिर सही मौका देख कर चोरो ने काम को अंजाम दे दिया। लड़कों ने जंघई स्टेशन उतर गए तब माता जी को कुछ शक हुआ तो उन्होंने बैग चेक किया तो उनके बैग में रखे जेवरात व नगदी पैसे चोरो ने उड़ा लिये।

माता जी घर आई और घटना की जानकारी परिवार वालों को बताई तो तुरंत वहाँ रेलवे जी.आर.पी पुलिस से शिकायत दर्ज कराई गयीं है। देखो क्या रेलवे पुलिस उन गिरोहों को पकड़ पाती है या नही। पर माता जी जैसे और कितने यात्रियों का वही हाल हो रहा है। रोज जौनपुर थाना में रिपोर्ट दर्ज हो रही है। पर कार्यवाही कुछ नही हो रही। इस समाचार पत्र के माध्यम से हम निवेदन करते है कि रेलवे के बड़े से बड़े अधिकारियों को इस मामले को संज्ञान में लेना चाहिए । और इस गिरोह को जल्द से जल्द पकड़ने का आदेश दे कर एक बड़ी टीम तैनात कर उन्हें सलाख़ों के पीछे डालना चाहिए।

आपकी प्रतिक्रिया...