पैसेंजर ट्रेनों में पॉकेटमार गिरोह सक्रिय

Continue Readingपैसेंजर ट्रेनों में पॉकेटमार गिरोह सक्रिय

मुंबई , दिल्ली, गुजरात बाहर से आने वालों यात्रियों के सामान से गायब हो रहे पैसे ज़ेवरात स्थानीय रेलवे जी.आर.पी चोरों को पकड़ने में असमर्थ प्रयागराज से जौनपुर वाले पैसेंजर ट्रेनों में अब कुछ असामाजिक तत्व जैसे पॉकिट मार चोरों का बड़ा गिरोह सक्रिय हो चुका है। अभी गर्मी के…

रूस, यूक्रेन, अमेरिका, भारत… और भारतीय मीडिया

Continue Readingरूस, यूक्रेन, अमेरिका, भारत… और भारतीय मीडिया

जेलेन्स्की और पुतिन प्रकरण में भारत हर बार यूएन वोटिंग से ले कर सार्वजनिक आधिकारिक कथनों में रूस के साथ खड़ा दिखता है। पश्चिमी राष्ट्रों और अमेरिकी सांसदों से ले कर प्रभावशाली राष्ट्राध्यक्षों ने भारत को अपराध बोध में लपेटने के प्रयास किए। भारत ने रूस को नहीं त्यागा और…

निष्पक्ष पत्रकारिता या धंधे की पत्रकारिता

Continue Readingनिष्पक्ष पत्रकारिता या धंधे की पत्रकारिता

वर्किंग जर्नलिस्टस ऑफ इंडिया ने अपनी मांगों के समर्थन में दिल्ली के जंतर मंतर पर बहु चर्चित धरना- प्रदर्शन का आयोजन 30 मार्च को किया। इस आयोजन में बड़ी संख्या में पत्रकारों और मीडिया कर्मियों ने भाग लिया और एक ज्ञापन प्रधानमंत्री कार्यालय को दिया। उनकी बहुत सी मांगे बहुत…

दिव्यांग कल्याणकारी संस्था ने मनाया विश्व दिव्यांग दिवस

Continue Readingदिव्यांग कल्याणकारी संस्था ने मनाया विश्व दिव्यांग दिवस

पुणे. विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर दिव्यांग कल्याणकारी शिक्षण संस्था एवं वैद्यकीय संशोधन केंद्र (वानवडी, पुणे) ने हर्षोल्लास के साथ दिव्यांग दिवस समारोह मनाया। इस दौरान मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित महाराष्ट्र आरोग्य मंडल (पुणे) के सचिव अनिल गुजर ने अपने संबोधन में कहा कि इस संस्था में…

देश के लिए खतरा है सिद्धू व इमरान की दोस्ती- कैप्टन

Continue Readingदेश के लिए खतरा है सिद्धू व इमरान की दोस्ती- कैप्टन

कांग्रेस में अंदरुनी लड़ाई बहुत दिनों से जारी है लेकिन इसकी शुरुआत पंजाब से होगी यह किसी ने शायद नहीं सोचा होगा। मध्य प्रदेश के बाद सभी की नजर राजस्थान पर थी लेकिन सभी का आकलन गलत साबित हुआ और कांग्रेस की यह फूट पंजाब से देखने को मिली। सिद्धू…

स्वतंत्रता की दूषित अवधारणा

Continue Readingस्वतंत्रता की दूषित अवधारणा

क्या राष्ट्र के नागरिकों के मध्य अल्पसंख्यक औऱ बहुसंख्यक की शर्मनाक औऱ विभेदकारी अवधारणा को हम अपनी उपलब्धियों के रूप में याद करें। क्या तुष्टीकरण की व्यवस्था के लिये स्वाधीनता की राजनीतिक लड़ाई लड़ी गई थी। समाजवाद के नाम पर हमने किस आर्थिक मॉडल की नींव रखी जो राष्ट्रीय हितों के ही विरुद्ध हो। सवाल बहुत है जो जीवन के हर क्षेत्र से जुड़े है। क्यों कौटिल्य, गांधी, दीनदयाल की सशक्त और मौलिक वैचारिकी को खूंटी पर टांगकर हमने वाम औऱ पश्चिमी विचारों को आत्मसात कर देश को आगे बढ़ाने के नीतिगत निर्णय लिए? आखिर भारतीय स्वत्व को भुलाकर उधार की वैचारिकी ने इन 74 सालों में हमें क्या दिया?

केरल में बढ़ा कोरोना संक्रमण।

Continue Readingकेरल में बढ़ा कोरोना संक्रमण।

 देश दूसरी लहर से जूझ रहा है और तीसरी लहर की उम्मीद ने सभी को डरा रखा है ऐसे में केरल से डराने वाली खबर सामने आ रही है। केरल में अचानक से संक्रमित लोगों में इजाफा देखने को मिल रहा है जिससे राज्य और केंद्र सरकार चिंतित है। केरल…

“स्वराज हमारा जन्म सिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर ही रहूंगा”

Continue Reading“स्वराज हमारा जन्म सिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर ही रहूंगा”

यह नारा देश के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक ने दिया था उन्होंने ब्रिटिश सरकार को पूरी तरह से देश छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया था। बाल गंगाधर तिलक एक प्रसिद्ध वकील, शिक्षक, समाजसुधारक और राष्ट्रवादी व्यक्ति थे बाद में लोगों ने उन्हे लोकमान्य की भी उपाधि दी।…

RSS ने आयोजित किया रक्तदान शिबिर, ‘वैक्सीन से पहले रक्तदान’

Continue ReadingRSS ने आयोजित किया रक्तदान शिबिर, ‘वैक्सीन से पहले रक्तदान’

कोरोना महामारी में पूरे देश में वैक्सीन को लेकर अफरातफरी मची हुई है लोग जल्दी से जल्दी वैक्सीन लगवाना चाहते है लेकिन इस बात का ध्यान कम लोगों को है कि वैक्सीन के बाद कुछ समय तक आप रक्तदान नहीं कर सकते है ऐसे में सभी लोग रक्तदान किए बिना…

वैक्सीन, ऑक्सीजन और स्वास्थ्य उपकरण को लेकर पीएम मोदी का बड़ा फैसला

Continue Readingवैक्सीन, ऑक्सीजन और स्वास्थ्य उपकरण को लेकर पीएम मोदी का बड़ा फैसला

कोरोना महामारी की वजह से देश में हालात हर दिन खराब होते जा रहे है। अचानक से मरीजों की संख्या में हुई वृद्धि के बाद देश की स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा चुकी है। मरीजों की आवश्यकतानुसार दवाएं, ऑक्सीजन और वैक्सीन उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। पूरे देश में लोग परेशान…

Everything About Kailash Nath Temple | कैलाश नाथ मंदिर

Continue ReadingEverything About Kailash Nath Temple | कैलाश नाथ मंदिर

  भारत में सतवाहन राज वंश की शक्ति क्षीण होनेपर दक्षिण में पल्लवों के रूप में एक नयी शक्ति का उदय हुआ. इनके साम्राज्य में पूरा आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु का उत्तरी भाग शामिल था. इन्होने कांचीपुरम को अपनी राजधानी बनायीं और ४ थी से ९ वीं सदी तक राज…

१५५ वर्ष पुराना ‘सार्वजनिक वाचनालय कल्याण’ फिर से शुरू

Continue Reading१५५ वर्ष पुराना ‘सार्वजनिक वाचनालय कल्याण’ फिर से शुरू

विगत १५५ वर्ष पुरानी परम्परा से चलते आये वाचनालय गत 7 माह से कोरोना संकट के कारण बंद रखा गया था लोक डाउन के समय वाचनालय बंद होने से वाचनालय को आर्थिक तंगी से गुजरना पड़ा.

End of content

No more pages to load