हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

भारतीय एयर फोर्स के पायलट अभिनंदन को पाकिस्तान ने अपने कब्जे में लेने के बाद जिस प्रकार से उनके साथ व्यवहार किया है, हमले का वीडियो  संपूर्ण विश्व में वितरित किया है, इस बर्ताव के बाद पाकिस्तान की स्थिति राष्ट्रीय स्तर पर अत्यंत बिगड़ती हुई दिखाई दे रही है.

पुलवामा में हुए आतंकवादी हमले में आतंकवादी संगठन जैश-ए-मुहम्मद  का हाथ था. दुनिया के लिए खतरनाक हो रहे इस आतंकवादी संगठन पर संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी प्रतिबन्ध लगाया है. ऐसे आतंकवादी संगठनों की आतंकवादियों को प्रशिक्षण देने की छावनीया पाकिस्तान में होने का सबूत  भारत ने पाकिस्तान को पहले ही सौंपा था. भारत के इस कदम के बाद भी पाकिस्तान ने जैश-ए-मुहम्मद  की आतंकवादी ट्रेनिंग छावनी पर कोई भी कार्रवाई नहीं की. इस कारण भारत को जैश-ए-मुहम्मद के विरोध में पाक व्याप्त कश्मीर और पाकिस्तान में घुसकर आतंकवाद विरोधी कार्रवाई करनी पड़ी.

   भारत की ओर से किए गए इस प्रहार से तिलमिलाए पाकिस्तान ने आतंकवादी संगठन को सबक सिखाने की बजाय भारत पर आक्रमण करने की भाषा का उपयोग किया. भारत के द्वारा की गई आतंकवाद विरोधी कार्रवाई के बाद दूसरे ही दिन पाकिस्तान के हवाई दलों ने भारत के  सेना स्थानों पर आक्रमण करने का प्रयास किया।

एक ओर  “युद्ध किसी के भी हित में नहीं होता”, इस प्रकार की बातें करने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दूसरी ओर  भारत की सीमाओं पर गोलीबारी, तोपों के द्वारा गोलाबारी और लड़ाकू विमानों की घुसपैठ जैसी हरकतें करते ही रहे। भारतीय सीमा में घुसकर भारत के विभिन्न स्थानों पर हमला करने आ रहे पाकिस्तान के विमानों को  खदेडने का प्रयास कर रहा  भारत का  मिग-21 विमान पाकिस्तानी  सीमा में जाकर  क्षतिग्रस्त हो गया. उस विमान के विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान की सेना ने अपने कब्जे में ले लिया है. पाकिस्तान ने अपने कब्जे में विंग कमांडर अभिनंदन की चित्रफीत को संपूर्ण दुनिया के सामने जारी करने का  निर्लज्ज  कृत्य किया है.

पाकिस्तान की ओर से जारी किए गए इस वीडियो में विंग कमांडर अभिनंदन पर बड़ी बेरहमी से हमला करते हुए दिखाई दे रहा हैं. हाथ पैर बंधी हुई स्थिति में ,उनके चेहरे पर हुए जख्म को छुपाने के लिए कपड़ा बांधा गया है. ऐसी स्थिति में भी  उनके चेहरे के जख्म महसूस किये जा सकते है. इस प्रकार का  वीडियो जारी करना क्रूरता की परिसीमा है. अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार  कानून और 1949 में हुए जिनेवा करार के अंतर्गत जो मुद्दे तय किए गए थे, उनका पाकिस्तान ने उल्लंघन किया है. जिनेवा करार के अनुसार युद्ध कैदियों के साथ  इस प्रकार बर्बरता से पेश आना अत्यंत गलत बात है. जिनेवा करार के अनुसार युद्ध कैदियों को अपने देश में वापस भेजना अत्यावश्यक है .पाकिस्तान ने यह वीडियो जारी करके संपूर्ण  विश्व के सामने यह बात प्रस्तुत  की है कि पाकिस्तान दुनिया के किसी भी नियम को नहीं मानता।  पाकिस्तान का यह रवैया अत्यंत गलत है,  और इस कारण ही  पाकिस्तान की स्थिति अंतरराष्ट्रीय स्तर पर और बिगड़ती हुई नजर आ रही है।

1999 में एयरफोर्स के अधिकारी अजय आहूजा के  हवाई जहाज को पाकिस्तान ने मिसाइल से तब मार गिराया था , जब वह अपनी सीमा के अंदर था. कारगिल युद्ध भड़कने के पीछे सबसे अहम कारण यही था।

 पाकिस्तान ने अभिनंदन के साथ गलत किया है और कुछ ज्यादा गलत करता है तो भारत को पाकिस्तान से इस बात की कीमत वसूलने पड़ेगी।

“युद्ध के समीकरण हमेशा गलत तरीके से विश्व के सामने आए हैं. शुरू हुआ युद्ध  किस दिशा में जाएगा यह बता नहीं सकते. इस कारण समझदारी इसी में है कि दोनों राष्ट्रों को बैठकर आपस में संवाद करना जरूरी है.” दुनिया को दिखाने के लिए इस प्रकार की विश्व शांति के शब्दों वाले घड़ियाली आंसू रोने वाले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान बोलते कुछ हैं और करते कुछ है. पाकिस्तान की  अब तक की परंपरा रही है. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नेशनल कमांड अथॉरिटी जिनके पास परमाणु हथियार का नियंत्रण है, ऐसे लोगों की बैठक बुलाकर भारत को डराने का प्रयास किया है। इस बैठक का एक संदेश यह भी हो सकता है कि पाकिस्तान परमाणु बम का इस्तेमाल कर सकता है. पाकिस्तान का यह संदेश भारत और पाकिस्तान के लिए ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है.  पाकिस्तान में ही दुनिया को तकलीफ देने वाले आतंकवादियों को पालना, अंतरराष्ट्रीय दबाव आने पर भी  देश में छुपे हुए आतंकवादियों पर कोई भी कार्रवाई ना करना, आतंकवादी संगठनों के ठिकाने पर भारत में प्रहार करने के बाद भारत पर ही परमाणु बम के इस्तेमाल की धमकी देना, विंग कमांडर अभिनंदन पर जानलेवा हमला करके उसे घायल करना  यह सारी बातें साफ तौर पर यूएन के जिनेवा समझौते  और अंतर्राष्ट्रीय नियमों का पाकिस्तान की ओर से हुआ उल्लंघन है. आज अमेरिका के साथ पूरा विश्व पाकिस्तान के  द्वारा की जा रही हरकतों को समझ रहा है. अमेरिका और अन्य राष्ट्रों ने पाकिस्तान को आतंकवादियों पर सही तरीके से कार्रवाई करने का जो संदेशा दिया है, उस संदेशे के पीछे भी बहुत गहराई छिपी हुई है. आज पाकिस्तान एक के बाद एक जो गलतियां कर रहा है. शायद पाकिस्तान की यही गलतियां उस पर भारी पड़ने का समय आ गया है.

 

This Post Has 2 Comments

  1. Very good article Shri. Pednekarji. While India attacked only the terrorist base and not any civilians or army targets, it also made the world aware that India is a peaceful country and will not be taken for granted anymore if it’s civilians and defence forces are targeted. Proud of our PM Shri. Narendra Modi Ji for his approval and proud of all our defence personnel and support staff. The whole world will slowly be boycotting the rouge nation Pakistan and should bring g it down to its knees to stop supporting terrorists. This is a war against terrorism. Thanks once again.

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu

विगत 6 वर्षों से देश में हो रहे आमूलाग्र और सशक्त परिवर्तनों के साक्षी होने का भाग्य हमें प्राप्त हुआ है। भ्रष्ट प्रशासन, दुर्लक्षित जनता और असुरक्षित राष्ट्र के रूप में निर्मित देश की प्रतिमा को सिर्फ 6 सालों में एक सामर्थ्यशाली राष्ट्र के रूप में प्रस्तुत करने में भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की अभूतपूर्ण भूमिका रही है।

स्वंय के लिए और अपने परिजनों के लिए ग्रंथ का पंजियन करें!
ग्रंथ का मूल्य 500/-
प्रकाशन पूर्व मूल्य 400/- (30 नवम्बर 2019 तक)

पंजियन के लिए कृपया फोटो पर क्लिक करें

%d bloggers like this: