कोरोना संक्रमित सभी मृतकों का होगा दाह संस्कार, नहीं मिलेगी शव दफनाने की अनुमति

कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या पूरे देश में लगातार बढ़ती जा रही है। केंद्र सरकार की तरफ से कोरोना वायरस से बचाव को लेकर लगातार तैयारियां जारी हैं लेकिन बावजूद इसके इस पर पूरी तरह से रोक नहीं लग पा रहा है और हर दिन संक्रमित और मृतकों की संख्या में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है।
महाराष्ट्र संक्रमण में सबसे आगे चल रहा है यहां पर संक्रमित लोगों की संख्या 200 पहुच चुकी है जबकि अब तक 10 लोगों की मौत भी हो चुकी है। वही कोरोनावायरस से  मरने वालों के अंतिम संस्कार को लेकर लोगों में काफी संदेह है। कोरोना से संक्रमित मृतक व्यक्ति का अंतिम संस्कार उसके धर्म के अनुसार होगा या फिर प्रशासन की तरफ से सभी का दाह संस्कार (शव जलाना) किया जायेगा क्योंकि अगर कोरोना से संक्रमित का शव जमीन के अंदर दफनाया जाता है तो आने वाले भविष्य में यह वायरस फिर से जिंदा हो सकता है।
महाराष्ट्र में अब तक 10 लोगों की मौत कोरोनावायरस से हो चुकी है जबकि 200 लोग इससे संक्रमित हैं इन सब को ध्यान में रखते हुए मुंबई महानगरपालिका (BMC) की तरफ से यह आदेश जारी किया गया है कि संक्रमित व्यक्ति की मौत के बाद उसका दाह संस्कार किया जाएगा वह चाहे किसी भी धर्म का क्यों ना हो। बीएमसी की तरफ से यह फैसला लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए लिया गया है।
बीएमसी के कमिश्नर प्रवीण परदेशी ने बताया कि कोरोना से संक्रमित मृतक का दाह संस्कार किया जाएगा क्योंकि इसके लिए किसी का भी धर्म मायने नहीं रखता बल्कि लोगों की सुरक्षा ज्यादा मायने रखती है। दाह संस्कार के अलावा किसी को भी शव दफनाने या किसी अन्य तरीके से अंतिम संस्कार करने की अनुमति नहीं दी जायेगी। इसके साथ ही सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अंतिम संस्कार में 5 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो पाएंगे। अगर कोई शव दफनाने के लिए जबरदस्ती करता है तो उसे मुंबई शहर के अधिकार क्षेत्र से बाहर जाना पड़ेगा। वैसे यह सवाल सिर्फ मुंबई के लिए नही था बल्कि पूरे देश के लोगों के मन में यही सवाल है कि कोरोना संक्रमित मृतक के शव का अंतिम संस्कार कैसे होगा। मुंबई नगर पालिका ने अपना नियम तो लागू कर दिया लेकिन बाकी  राज्यों का क्या निर्देश होगा यह अभी तक पता नहीं चला है।

This Post Has One Comment

  1. Sandeep mane

    Bahut he acchha aur lokahit me Kendra sarkar ka nirnay.pure Vishwa ne abhi ki. Corona jaisi mahamari ke chalte yehi nirnay lena chahiye bhavishya ko dekhte huye.

आपकी प्रतिक्रिया...