fbpx
हिंदी विवेक : WE WORK FOR A BETTER WORLD...

केंद्र सरकार का राज्यों को आदेश, रोहिंग्या की कोविड19 जांच जरुरी

केंद्र ने राज्य और केंद्र शासित प्रदेश सरकारों को दिया आदेश, रोहिंग्या मुसलमानों की कोविड19 जांच जरुरी,  निजामुद्दीन मरकज कार्यक्रम में हुए थे शामिल, पूरे देश में 40 हजार रोहिंग्या मुसलमान शरणार्थी 
देश में कोरोना वायरस का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है और तबलीगी जमात इसे बढ़ाने में पूरी मदद भी कर रही है क्योंकि निजामुद्दीन मरकज में शामिल हुए तबलीगी जमात के लोगों की वजह से अब यह पूरे देश में फैल चुका है। केंद्र और राज्य सरकारें अब तबलीगी जमात के लोगों को ढूंढ कर उनका टेस्ट कर रही है ताकी कोरोना संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। वहीं सरकार को इस बात की भी खबर मिली है कि रोहिंग्या मुसलमान भी मरकज में शामिल हुए थे जिसके बाद गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि वह अपने क्षेत्र में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों के कोविड की जांच करें क्योंकि यह लोग भी दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज कार्यक्रम में शामिल हुए थे जिसके बाद से इनके भी संक्रमित होने की उम्मीद की जा रही है।
सरकार के मुताबिक जो भी रोहिंग्या मरकज में शामिल हुए थे उसमें से कुछ घर वापस नहीं लौटे हैं जिससे बाद सरकार ने यह आदेश जारी किया और सभी का टेस्ट अनिवार्य कर दिया है। जिससे संक्रमित लोगों को जल्द से जल्द पकड़ा जा सके। सरकार इस बात को लेकर चिंतित है कि देश में लगातार कोरोना के केस बढ़ते जा रहे है। तबलीगी जमात की वजह से इस पर रोक लगना थोड़ा मुश्किल नजर आ रहा है क्योंकि तबलीगी जमात के ज्यादातर लोग अपनी पहचान छुपाने में लगे हुए है।
वहीं सरकार के पास कुछ राज्यों की सूची भी है जहां के रोहिंग्या शरणार्थी लौट कर अपने घर नहीं आए हैं, इसमें हैदराबाद, हरियाणा, दिल्ली सहित कई शहर शामिल है। वहीं सरकार को इस बात की भी जानकारी मिली है कि पंजाब के डेरा बस्सी में और जम्मू कश्मीर के जम्मू इलाके में कुछ रोहिंग्या शरणार्थी आकर बसे हैं और वह तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल भी हुए थे जिसके बाद सरकार ने इनकी जांच के लिए राज्यों से बात की है।
गृह मंत्रालय ने बताया कि करीब 40 हजार रोहिंग्या मुसलमान पूरे देश के अलग-अलग क्षेत्रों में रहते हैं इनका जीवन यापन करने का तरीका अलग अलग है जिससे यह ज्यादा लोगों के संपर्क में आते हैं जिसके चलते केंद्र सरकार ने यह आदेश जारी किया है कि सभी रोहिंग्या मुसलमानों की कोरोना वायरस जांच होना जरूरी है वरना इसके और तेजी से संक्रमण फैलने की आशंका रहेगी।

आपकी प्रतिक्रिया...

Close Menu
%d bloggers like this: