बेरोजगार परिवारों का सहारा बना सत्संग परिवार

8500 परिवारों की राशन वितरण

भगवान की कथा का आयोजन करने के लिए मुंबई में सत्संग परिवार धर्म के साथ ही कर्म के लिए भी जाने जानी लगी है। कोरोना महामारी संकट काल में सत्संग परिवार के सेवा कार्य क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है।लॉकडाउन के कारण बेरोजगार हुए परिवारों को भोजन से वंचित न रहना पड़े इसके लिए सत्संग परिवार ने तत्काल उन्हें भोजन पहुंचने की व्यवस्था की। अब तक सत्संग परिवार द्वारा 8500 बेरोजगार परिवारों को राशन वितरण किया जा चुका है। सत्संग परिवार के ट्रस्टी प्रेम अग्रवाल ने बताया की जब तक लॉकडाउन ख़त्म नहीं हो जाता तब तक निरंतर सेवा कार्य आगे भी जारी रखने का निर्णय लिया गया है।पालघर के वाडा, विक्रमगड आदि आदिवासी, वनवासी क्षेत्रों सहित मुंबई उपनगर के झुग्गी झोपड़ियों में भी हजारों की संख्या में राशन का वितरण किया गया है। संस्था के सभी ट्रस्टी और पदाधिकारी कार्यकर्ताओं द्वारा तन, मन, धन से सेवा कार्यों में महत्वपूर्ण योगदान दिया जा रहा है।

खाद्य सामग्री सहित सुरक्षा सामग्री की आपूर्ति जरूतमंदो को की जा रही है.

सत्संग परिवार के अध्यक्ष मनोज अग्रवाल, उपाध्यक्ष पवन दाधिया, सचिव प्रदीप अग्रवाल, सचिव चादमल तुलस्यान, सहकार्य अध्यक्ष राकेश खेतान, महिला समिति एवं युवा टीम द्वारा बड़ी संख्या में सेवा कार्य किये जा रहे है। व्यापक स्तर पर किये जा रहे सेवा कार्यों को देखते हुए सांसद गोपाल शेट्टी ने भी संत्सग परिवार की सरहाना की और उन्हें धन्यवाद ज्ञापन पत्र सौप कर उनका गौरव किया। इसके आलावा उन्होने स्वयं भी सत्संग परिवार के साथ जुड़कर जरूरतमदों को अपने हाथों से राशन किट प्रदान कर कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाया। गरीब मरीजों की सेवा के लिए हाल ही में सत्संग परिवार द्वारा कांदिवली स्थित लोखंडवाला क्षेत्र में डायग्नोस्टिक एवं मेडिकल सेंटर शुरू किया। नगरसेविका सुरेखा मनोज पाटिल, शुभचिंतक आदिनाथ गुर्जर और परिवार के ट्रस्टी प्रेम अग्रवाल, नारायण गोयंका आदि सभी सेवा कार्यों मे अपनी भूमिका निभा रहे है।

आपकी प्रतिक्रिया...