मानवीय सवेंदना से युक्त कम्पनी -आशीदा

आशिदा इलेक्ट्रिक रीले तथा विद्युत के अन्य उपकरण बनाने वाली अग्रणी कम्पनियों में से एक है। विद्युत उपकरणों के निर्माण के क्षेत्र में यह कम्पनी जितना कार्य करती है उतना ही अपने सीएसआर के माध्यम से समाज सेवा का कार्य भी करती है। कम्पनी की सर्वेसर्वा तथा संस्थापक सदस्यों में से एक श्रीमती आशालता कुलकर्णी ने बाताया कि कोरोना काल में इस कम्पनी ने न सिर्फ अपने सीएसआर के माध्यम से कार्य किया बल्कि इस कम्पनी में काम करने वाले लोगों ने अपनी स्वेच्छा से वेतन से कुछ भाग कोरोना पीडितों की मदद के लिए दिया। कम्पनी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, जनकल्याण समिति, वनवासी कल्याण आश्रम आदि संस्थाओं को इस कोरोना काल में लगभग चार लाख रुपए दान दिए, जिससे ये संस्थाएं कोरोना पीडितों की मदद कर सकें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पीएम केयर फंड में दान करने के आग्रह का प्रतिसाद देते हुए आशिदा कम्पनी के द्वारा पीएम केयर फंड में भी दान दिया गया। कम्पनी ने अपने लगभग 400 कर्मचारियों को लॉकडाउन के दो महीने में कामकाज पूर्ण बंद होने के बाद भी पूर्ण वेतन दिया। शायद इसी का परिणाम रहा कि कम्पनी के कई कर्मचारियों ने अपने वेतन का कुछ भाग कोरोना काल में दान स्वरूप दिया। केवल कर्मचारी ही नही कम्पनी से सम्बंधित वेंडर्स भी इस दान की प्रक्रिया में सहभागी हुए। कम्पनी के द्वारा सामान्य दिनों में हर गुरुवार को ठाणे के सिविल अस्पताल में फल तथा बिस्किट के पैकेट वितरित किये जाते हैं। चुंकि इस कोरोना काल में अस्पताल में जाना सम्भव नहीं था अत: अस्पताल के अधिकारियों ने सुझाव दिया कि वे खाद्य सामग्री के पैकेट्स कम्पनी से ही ले लेंगे जिससे किसी को भी अस्पताल आने की आवश्यकता न पडे। इन सबके साथ ही अपने घर की ओर पैदल ही प्रस्थान करने वाले मजदूरों की समस्याएओं का भी कम्पनी के डायरेक्टर सुजय कुलकर्णी तथा सुयश कुलकर्णी ने संज्ञान लिया तथा उनके लिए भी नाश्ता, बिस्किट के पैकेट तथा पानी की व्यवस्था की।

आपकी प्रतिक्रिया...