नवरात्रि में भूलकर भी ना करें यह काम, वरना होगा बड़ा अमंगल

हिन्दू धर्म में नवरात्रि का विशेष महत्व होता है और पूरे 9 दिन तक मां दुर्गा के अलग अलग रूपों की पूजा की जाती है। इस दौरान तमाम महिलाएं और पुरुष व्रत रखते है, अखंड ज्योति जलाते है और रात भर जाग कर माता का जागरण भी करते है। इसके साथ ही व्रत और पूजा के नियमों को भी बड़ी सावधानी के साथ करते है जिससे भक्तों को मनवांक्षित फल प्राप्त होता है।

माता की चौकी की सही दिशा – हिन्दू धर्म में दिन और दिशा को विशेष महत्व दिया गया है हम कोई भी शुभ काम दिन और दिशा के हिसाब से करते है इसलिए ही नवरात्रि में भी माता की चौकी की दिशा हमेशा पूरब या फिर उत्तर दिशा में होनी चाहिए जिससे जब आप पूजा करने बैठें तो आप का मुंह पूरब में या फिर उत्तर में होना चाहिए। पश्चिम या फिर दक्षिण दिशा में मुंह करके पूजा करने को गलत माना गया है।

घर के दरवाजे पर ऐसे बनाएं स्वास्तिक – नवरात्रि में घर के बाहर स्वास्तिक बनाना चाहिए यह जीवन के लिए बहुत ही लाभदायक होता है लेकिन इसे बनाने की विधि बाकी समय से थोड़ा अलग है। नवरात्रि में स्वास्तिक बनाने के लिए हल्दी, चूना और रोली का इस्तेमाल करना चाहिए। घर के बाहर इन तीनों चीजों से स्वास्तिक बनाने से आप का बृहस्पति, चंद्र और शुक्र सही दिशा में काम करने लगता है।

नवरात्रि में पूजा करने की तमाम विधियां है जिसका सही से पालन करना जरूरी होता है। आप को सही विधि का ज्ञान ना हो तो पूजा में अनर्थ भी सकता है। नवरात्रि में माता के भक्तों से कोई त्रुटि ना हो इसके लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना होता है। हम आप को कुछ ऐसी ही बातें बताने जा रहा है जो आप को नवरात्रि में बिल्कुल भी नहीं करनी चाहिए।

नवरात्रि में ना करें यह काम –

1.   नवरात्रि का व्रत रखने वालों को बाल और दाढ़ी नहीं बनानी चाहिए
2.   अखंड ज्योति को घर में कभी भी अकेला छोड़ कर ना जाएं
3.   नवरात्रि के दौरान लहसुन, प्याज, मांस, मंदिरा और तंबाकू का सेवन ना करें
4.   व्रत करने वालों को चमड़े का बेल्ट, जूता और बैग जैसी चीजों का उपयोग नहीं करना चाहिए
5.   नवरात्रि का व्रत करने वालों को नींबू नहीं काटना चाहिए
6.   पुराणों के अनुसार व्रत करने वाले को दिन में नहीं होना चाहिए और एक ही स्थान पर बैठकर फल ग्रहण करना चाहिए
7.   नवरात्रि में दुर्गा सप्तशती, मंत्र और चालीसा का पाठ करने के दौरान इसे बीच में छोड़कर ना उठे, यह दोषपूर्ण होता है।
8.   नवरात्रि में हर दिन सुबह साफ कपड़े ही पहने और खाने में अनाज व नमक का इस्तेमाल ना करें
9.  चैत्र नवरात्रि में महिलाओं को मंदिर में बाल खोलकर नहीं जाना चाहिए, इससे शनि की बुरी दशा शुरु हो सकती है।

आपकी प्रतिक्रिया...