टाटा की दरियादिली, कोरोना से मौत पर परिवार को 60 वर्ष तक मिलेगा वेतन और बहुत कुछ…

कोरोना महामारी में जहां एक तरफ मौत का सिलसिला लगातार जारी है वहीं हर दिन कई परिवार बेसहारा भी रहे है। अमूमन देखा जाता है कि घर के ज्यादातर युवा ही नौकरी पर होते है ऐसे में कोरोना महामारी ने युवाओं को सबसे अधिक अपना शिकार बनाया है। किसी भी घर से अगर किसी युवक की मौत होती है तो उसके पीछे पूरा परिवार ही बिघर जाता है। एक युवक के पीछे उसकी पत्नी, बेटा, मां और बाप सभी अनाथ जैसे हो जाते है क्योंकि ज्यादातर परिवारों में नौकरी करने वाला कोई एक ही होता है। इस विकट परिस्थिति में परिवार की आर्थिक हालत बिगड़ने लगती है और परिवार को बुरी स्थिति में जीवन गुजारना पड़ता है।

कोरोना काल में प्राइवेट कंपनियां अपने कर्मचारी की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा रही है। कर्मचारी हित की बात करें तो टाटा कंपनी का नाम पहले नंबर आता है। रतन टाटा की दरियादिली से हर कोई वाकिफ है। रतन टाटा पूरे देश के लिए एक हीरो है जो मुसीबत के समय सरकार और जनता की सेवा से कभी भी पीछे नहीं हटते है। कोरोना काल में टाटा स्टील की तरफ से भी ऐसा ही कुछ विशेष ऐलान किया गया है जो उसके कर्मचारियों के लिए बहुत ही राहत की बात होगी। टाटा स्टील की तरफ से कहा गया है कि कोरोना काल में किसी भी वर्किंग कर्मचारी की मौत होती है तो कंपनी की तरफ से उसके परिवार को पूरे 60 साल यानी की रिटायरमेंट तक उसका वेतन मिलता रहेगा। इसके साथ ही परिवार के रहने और चिकित्सा की व्यवस्था भी कंपनी की तरफ से की जायेगी। मृतक के बच्चों का देश के अंदर पढ़ाई का खर्च भी कंपनी की तरफ से वहन किया जायेगा।

टाटा प्रबंधन की इस दरियादिली की हर तरफ तारीफ हो रही है और बाकी लोगों को भी इससे कुछ सीखने की जरूरत है। कंपनी का व्यापार उसके कर्मचारियों पर भी निर्भर करता है ऐसे में कुछ कंपनी अपने कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार क्यों करती है। अगर किसी भी कंपनी का कर्मचारी खुश नहीं होगा तो वह कभी भी कंपनी के लिए ईमानदारी से काम नहीं करेगा बल्कि वह सिर्फ अपना वेतन निकालने के लिए काम करेगा और कंपनी के कर्मचारियों में भी आपस में फूट होगी जिससे कंपनी का ग्रोथ रुक जायेगा।

इससे पहले महिंद्रा ने भी अपने कर्मचारियों को राहत दी है और कोविड के दौरान मृतकों के परिवार का पूरा ख्याल रखने का वादा किया है। महिंद्रा की तरफ से कहा गया है कि कोविड के दौरान मृतक कर्मचारी के परिवार का खर्च और बच्चों की 12वीं तक की शिक्षा का खर्च कंपनी उठायेगी।

This Post Has One Comment

  1. Lokesh soni

    Very nice Tata group… salute

आपकी प्रतिक्रिया...