पाकिस्तान पर फिर होगा सर्जिकल स्ट्राइक!

 

पिछले कुछ दिनों से कश्मीर में आतंकी घटनाओं में बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है और इस बार हिन्दुओं को खासकर निशाना बनाया जा रहा है। दरअसल आतंकियों की घुसपैठ पर बहुत हद तक रोक लगा दी गयी है जिससे वह पूरी तरह से परेशान हो चुके हैं। इसके साथ ही धारा 370 के खत्म होने से उनकी मुश्किलें और बढ़ गयी है क्योंकि स्थानीय प्रशासन और नेता अब उनकी मदद नहीं कर पा रहे हैं। आतंकी सरकार पर एक दबाव बनाने के लिए हिन्दुओं को अपना निशाना बना रहे है लेकिन सरकार इनकी इस हरकत से दबाव में नहीं आने वाली है बल्कि सरकार की तरफ से केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने खुली धमकी दे दी है कि अगर आतंकी घटनाएं बढ़ती रही तो फिर से सर्जिकल स्ट्राइक कर दिया जायेगा। 
गोवा में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि अगर पाकिस्तान की तरफ से सीमा उल्लंघन का काम जारी रहा तो हमें फिर से सर्जिकल स्ट्राइक करना होगा। गृह मंत्री ने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि पाकिस्तान को यह बात तो अब तक समझ आ चुकी होगी कि हम अब चुप रहने वाले नहीं हैं अगर सीमा उल्लंघन बढ़ा और कश्मीर में लोगों को निशाना बनाया गया तो फिर से सर्जिकल स्ट्राइक का होना तय है। अमित शाह ने पिछले सर्जिकल स्ट्राइक की चर्चा की और कहा कि अब भारत चुप नहीं रहने वाला है अब भारत ने भी जवाब देना सीख लिया है। 
 
आप को बता दें कि भारत ने उरी, पठानकोट और गुरदासपुर में हुई आतंकी घटनाओं के 11 दिन बाद पाकिस्तान पर सर्जिकल स्ट्राइक किया था जिसमें आतंकियों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ था। 29 सितंबर 2016 को सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया गया था। इसके बाद पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए फिर से 2019 में सर्जिकल स्ट्राइक की गयी थी जिसमें जैश ए मोहम्मद के कई ठिकानों को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया गया था। सर्जिकल स्ट्राइक से आतंकियों को बड़ा नुकसान हुआ इसके साथ ही कश्मीर से धारा 370 का खत्म होना भी उनके लिए एक बड़ा झटका था। पूरी तरह से टूट चुके पाक समर्थित आतंकी अब छोटी घटनाओं के तहत आम लोगों को अपना निशाना बना रहे हैं। 

आपकी प्रतिक्रिया...